ताज़ा खबर
 

निशानेबाज बेटी के पास जर्मनी जाने के पैसे नहीं, मजदूर पिता ने बेची भैंस, योगी ने मदद के लिए बढ़ाए हाथ

जर्मनी में शुरू होने जा रहे 50 मीटर राइफल के जूनियर विश्वकप में क्वालीफायर प्रिया सिंह के लिए टूर्नामेंट में शामिल होने में आड़े आ रही आर्थिक समस्या को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूर कर दिया है। मेरठ की 19 वर्षीय प्रिया सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिखकर मदद के लिए गुहार लगाई थी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जानकारी लगते ही कर दी निशानेबाज बेटी की मदद। (फोटो- एएनआई)

जर्मनी में शुरू होने जा रहे 50 मीटर राइफल के जूनियर विश्वकप में क्वालीफायर प्रिया सिंह के लिए टूर्नामेंट में शामिल होने में आड़े आ रही आर्थिक समस्या को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूर कर दिया है। मेरठ की 19 वर्षीय प्रिया सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिखकर मदद के लिए गुहार लगाई थी। मामला उस वक्त सुर्खियों में आ गया था जब प्रिया के पिता बृजपाल सिंह ने बेटी का सपना पूरा करने के लिए अपने भैंस तक को बेच दिया। प्रिया सिंह ने 22 जून से शुरू होने जा रहे इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (आईएसएसएफ) के जूनियर वर्ल्ड कप में क्वालीफाई किया है। प्रिया के पास इस टूर्नामेंट में शामिल होने के लिए जर्मनी जाने और वहां ठहरने के लिए पर्याप्त धनराशि नहीं थी। इसके लिए उन्हें करीब साढ़े चार लाख रुपये की जरूरत थी। हालांकि प्रिया ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया था, ”मैं हिस्सा लेना चाहती हूं लेकिन मुझे बताया गया है कि मुझे 3-4 लाख रुपये की जरुरत पड़ेगी। मेरे पिता मजदूर हैं। वह पूरी कोशिश कर रहे हैं लेकिन पैसे की व्यवस्था करने में नाकाम रहे हैं। मैंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। मैं यहां तक की खेल मंत्री के पास दो बार गई लेकिन उनसे मुलाकात नहीं हो पाई।”

बेटी का सपना पूरा करने के लिए पैसा जुटाने की हर मुमकिन कोशिश में लगे रहे पिता ने भी मीडिया से अपने जज्बात साझा किए। प्रिया के पिता बृजपाल सिंह ने एएनआई से कहा, ”मैंने विधायक, मुख्यमंत्री, खेलमंत्री और प्रधानमंत्री से आग्रह किया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। मैंने अपनी भैंस बेच दी, दोस्तों से पैसा उधार लिया और अगर सरकार मदद करने से इनकार करती है तो किसी भी कीमत पर उसे जर्मनी भेजूंगा।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर एएनआई से कहा, ”ज्यों ही मुझे इस बारे में पता लगा, मैंने फौरन राज्य सरकार के द्वारा उन्हें 4.5 लाख रुपये मुहैया कराने की मंजूरी दे दी। मेरठ के जिला मजिस्ट्रेट से कहा गया है कि वह उनके (प्रिया सिंह) के लिए साधन की व्यवस्था करें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छात्र नेता उमर खालिद ने मांगी पुलिस सुरक्षा, बताया- गैंगस्टर रवि पुजारी के नाम से मिल रहीं धमकियां
2 स्कूल में भजन और सूर्य नमस्कार का विरोध, कहा- जबरन करवा रहा स्टाफ
3 VIDEO: भाजपा विधायक की गुंडागर्दी, थाने में घुस पुलिसकर्मी को जड़ दिया थप्पड़!
यह पढ़ा क्या?
X