ताज़ा खबर
 

हादसा या हत्याः देखिए वीडियो, कैसे ट्रक से कुचलकर हुई पत्रकार की मौत, रेत माफिया से लिया था पंगा

मध्य प्रदेश के भिंड में ट्रक से कुचलकर पत्रकार संदीप शर्मा की मौत हो गई। मौत पर इसलिए सवाल उठ रहे हैं क्योंकि अवैध खनन का खुलासा करने पर रेत माफियाओं ने जान से मारने की धमकी दी थी। जिस पर पत्रकार ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी।

Author नई दिल्ली | March 26, 2018 14:31 pm
मध्य प्रदेश के भिंड में रेत माफिया के खिलाफ रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकार संदीप शर्मा को ट्रक ने कुचला(सीसीटीवी का स्क्रीनशॉट)

मध्य प्रदेश के भिंड में ट्रक से कुचलकर पत्रकार संदीप शर्मा की मौत हो गई। मौत पर इसलिए सवाल उठ रहे हैं क्योंकि अवैध खनन का खुलासा करने पर रेत माफियाओं ने जान से मारने की धमकी दी थी। जिस पर पत्रकार ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। परिवार ने इसे हादसा नहीं बल्कि हत्या करार दिया है। घटना उस वक्त हुई, जब पत्रकार संदीप शर्मा मोटरसाइकिल से सिटी कोतवाली के पास से गुजर रहे थे, अचानक ब्रेकर के पास ट्रक ने रौंद दिया। बुरी तरह कुचल जाने से मौत हो गई। सोमवार(26 मार्च) सुबह करीब नौ बजे हुई इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। जिसमें दिखता है कि पत्रकार सुनील शर्मा बाइक से ब्रेकर क्रास कर रहे हैं। अचानक पीछे से आया ट्रक तेजी से बाईं तरफ टर्न होकर उन्हें रौद कर आगे बढ़ जाता है।

घटना को सुनियोजित साजिश बताते हुए परिवार ने जांच की मागं की। बताया जा रहा है कि संदीप शर्मा ने कुछ साल पहले रेत माफिया और पुलिस अफसर की बातचीत का स्टिंग में खुलासा किया था। जिसके चलते उनकी मौत हुई। उधर घटना के बाद पत्रकार और स्थानीय लोग आक्रोशित हो उठे। जिस पर एसपी व अन्य अफसरों ने उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया।

आईपीएस की हो चुकी है हत्याः अवैध खनन के लिए मध्य प्रदेश हमेशा सुर्खियों में रहा है। चंबल रेंज में रेत और पत्थर के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने के लिए छापेमारी के दौरान आठ मार्च 2012 को ट्रेनी आईपीएस नरेंद्र कुमार की माफिया ने हत्या कर दी। यह घटना बामौर थाने से कुछ ही दूरी पर हुई थी। जब अवैध पत्थर लादकर ले जाते ट्रैक्टर को देखा तो ट्रेनी आईपीएस ने रुकने का इशारा किया। तब माफिया ने अफसर पर ट्रैक्टर चढ़ाकर जान ले ली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App