ताज़ा खबर
 

हरियाणा : पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या में राम रहीम समेत 4 दोषी करार, 17 को सुनाई जाएगी सजा

पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में शुक्रवार को फैसला सुना सकती है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पंचकूला के डीसीपी कमलदीप गोयल ने जिले में गुरुवार रात से धारा 144 लागू कर दी है।

Author January 11, 2019 3:30 PM
राम रहीम के खिलाफ फैसला आज। पंचकूला में बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था। फोटो सोर्स : एएनआई

पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के 16 साल पुराने मामले में शुक्रवार को राम रहीम समेत 4 लोगों को दोषी करार दिया। सजा 17 जनवरी को सुनाई जाएगी। इस सुनवाई के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पंचकूला के डीसीपी कमलदीप गोयल ने जिले में गुरुवार रात से धारा 144 लागू कर दी गई थी।

16 साल पहले हुआ था हत्याकांड : बता दें कि सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह ने 16 साल पुराने इस मामले के आरोपी गुरमीत राम रहीम, निर्मल, कुलदीप और कृष्ण लाल को 2 जनवरी को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए थे। हालांकि सुरक्षा के मद्देनजर हरियाणा सरकार की अपील पर सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कराने की अनुमति दे दी है। जज जगदीप सिंह साध्वी यौन शोषण मामले में भी राम रहीम को सजा सुना चुके हैं।

सिरसा-रोहतक में सुरक्षा कड़ी : हरियाणा पुलिस ने सुनवाई के मद्देनजर रोहतक की सुनारिया जेल और सिरसा शहर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। सिरसा में डेरा सच्चा सौदा से सिरसा शहर तक हरियाणा पुलिस की 12 कंपनियां तैनात की गई हैं। इनके अलावा 10 डीएसपी और 12 इंस्पेक्टर भी ड्यूटी में लगाए गए हैं। डेरा सच्चा सौदा को 14 पुलिस नाकों से घेरा गया है। वहीं, डेरे में सभी गतिविधियां बंद करा दी गई हैं। उन्हें आदेश दिया गया है कि डेरे की वीडियोग्राफी कराई जाए।

रामचंद्र ने किया था यौन शोषण का खुलासा : साध्वी यौन शोषण मामले में लिखे गए पत्रों के आधार पर सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति ने अपने अखबार में खबरें प्रकाशित की थीं। आरोप है कि राम रहीम ने पहले छत्रपति पर दबाव बनाया। जब वे धमकियों के सामने नहीं झुके तो 24 अक्टूबर 2002 को उन पर हमला किया गया। 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी।

ऐसे की गई थी पत्रकार की हत्या : आरोप है कि बाइक पर आए कुलदीप ने गोली मारकर रामचंद्र की हत्या की थी। उसके साथ निर्मल भी मौजूद था। जिस रिवॉल्वर से रामचंद्र पर गोलियां चलाई गईं, उसका लाइसेंस डेरा सच्चा सौदा के मैनेजर कृष्ण लाल के नाम पर था। गुरमीत राम रहीम पर हत्या की साजिश रचने का आरोप है। राम रहीम फिलहाल दो साध्वियों से यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा काट रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X