ताज़ा खबर
 

पत्रकार हत्याकांड : बेटे का दावा- ‘पूर्व सीएम ने कहा था जो मर्जी कर लो, राम रहीम का कुछ नहीं बिगड़ेगा’

अंशुल ने बताया, '16 साल पहले 24 अक्टूबर को करवाचौथ के दिन मां मायके गई थीं। हम खाना खाने की तैयारी कर रहे थे। तभी किसी ने बाहर से पिता को बाहर बुलाकर दो युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी।

Gurmeet Ram Rahim Singh, Journalist Murder Case: राम रहीम (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

रोहतक की जेल में बंद हरियाणा के कुख्यात बाबा राम रहीम को गुरुवार को सीबीआई कोर्ट ने एक और मामले में सजा सुना दी है। राम रहीम समेत चार आरोपियों को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में बीते शुक्रवार को दोषी करार दिया गया था। इस पर गुरुवार को राम रहीम को उम्रकैद की सजा सुनाई गई। वहीं गुरमीत के साथ तीन अन्य आरोपियों कुलदीप सिंह, निर्मल सिंह और कृष्ण लाल को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। एक समय था जब राम रहीम का रूतबा सातवें आसमान पर था। हरियाणा समेत देशभर की कई बड़ी सियासी हस्तियां उसके आगे सिर झुकाती थीं। लेकिन 16 साल के संघर्ष के बाद पत्रकार को बेटे की जिद और हिम्मत ने इंसाफ दिला ही दिया।

पूर्व सीएम ने कहा था कुछ नहीं बिगड़ेगाः भास्कर से बातचीत में मृतक पत्रकार के बेटे अंशुल प्रजापति ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। अंशुल के मुताबिक, ‘कई नेता मेरे परिवार के लोगों या परिचितों से कहते थे कि राम रहीम से समझौता कर लो। मेरे एक मित्र से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा था कि जो मर्जी कर लो बाबा का कुछ नहीं बिगड़ेगा। पंजाब सरकार के एक पूर्व मंत्री ने भी समझौते की सलाह दी थी।’

करवा चौथ के दिन मारी थी गोलियांः अंशुल ने बताया, ’16 साल पहले 24 अक्टूबर को करवाचौथ के दिन मां मायके गई थीं। उस दिन पिता जल्दी घर आ गए थे। हम खाना खाने की तैयारी कर रहे थे। तभी किसी ने बाहर से पिता को आवाज दी। वे बाहर गए तो दो युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद पिता वहीं गिर गए फिर उन्हें अस्पताल ले जाया गया। लेकिन बाद में उन्होंने दम तोड़ दिया।’ अंशुल के मुताबिक राम रहीम ने कभी भी उन्हें सीधी धमकी नहीं दी। उसके गुर्गों ने गवाहों को लगातार धमकाया, डराया और समझौते का दबाव बनाया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शाह पर हरिप्रसाद की टिप्पणीः BJP का पलटवार- कांग्रेस नेताओं की मानसिक बीमारी का इलाज मुश्किल
2 चाकू की नोंक पर जम्मू- दिल्ली दूरंतो में लूटपाट, गोल्ड- कैश के साथ Goggles तक नहीं छोड़ा
3 नागपुरः जज ने वॉट्सऐप पर वीडियो कॉल कर दी तलाक को मंजूरी, महिला ने अमेरिका से ही दिया बयान
ये पढ़ा क्या?
X