ताज़ा खबर
 

टीवी पत्रकार रोहित सरदाना का हार्ट अटैक से निधन, नोएडा के अस्पताल में चल रहा था कोरोना का इलाज

कोरोना ने पत्रकारिता की दुनिया के एक और चेहरे को छीन लिया। आजतक टीवी चैनल के पत्रकार रोहित सरदाना का नोएडा के एक अस्पातल में निधन हो गया।

Rohit sardana, coronaपत्रकार रोहित सरदाना का फाइल फोटो। सोशल मीडिया से

मशहूर टीवी ऐंकर रोहित सरदाना की हार्ट अटैक से मौत हो गई। वह कोरोना वायरस से भी संक्रमित थे। नोएडा के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। वह लंबे समय तक ‘जी न्यूज’ में थे और इस समय ‘आजतक’ चैनल में सेवाएं दे रहे थे। शाम को प्रसारित होने वाले डिबेट शो ‘दंगल’ की वह ऐंकरिंग करते थे। उन्हें पत्रकारिता जगत के कई पुरस्कारों से भी नवाजा गया था और बेबाक तरीके से अपनी बात रखने के लिए जाना जाता था। पत्रकारिता और राजनीति के कई बड़े चेहरों ने ट्वीट करके उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने ट्विटर पर लिखा, ‘विश्वास ही नहीं हो रहा कि रोहित जी हमारे बीच नहीं रहें। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें। ॐ शान्ति। ‘ अभिषेक मनु सिंघवी ने लिखा, ‘अविश्वसनीय,अकल्पनीय,कोरोना के क्रूर चक्र ने एक शानदार पत्रकार को लील लिया | ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें | ॐ शांति।’

पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने लिखा, ‘बहुत ही दुखदायी खबर है। जानेमाने टीवी ऐंकर रोहित सरदाना का निधन हो गया। उन्हें हार्ट अटैक आ गया। उनके परिवार के लिए गहरी संवेदना।’ उनहोंने कहा, रोहित और मेरे राजनीति विचार अलग थे लेकिन हम आपस में बहस करके भी मजे लिया करते थे। उनमें जुनून था।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी रोहित सरदाना के निधन पर शोक जताया और कहा कि देश ने एक बहादुर पत्रकार खो दिया है। वह हमेशा निष्पक्ष और बेबाक रिपोर्टिंग के लिए खड़े थे। भगवान दुख की घड़ी में परिवार को सहनशक्ति दे।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एक ट्वीट में कहा, ‘कम समय में मीडिया जगत में स्थान बनाने वाले पत्रकार रोहित सरदाना के निधन की खबर से स्तब्ध हूं। वे प्रतिभाशाली और प्रभावी पत्रकार थे। पत्रकारिता जगत को नुकसान हुआ है।’ केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी ट्वीट करके उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों की लिस्ट में राजद नेता तेजस्वी यादव, पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग जैसे बड़े चेहरे शामिल हैं।

 

Next Stories
1 कोरोना ने मारा या सिस्टम ने? काग़ज़ी कार्रवाई में घंटों उलझाया, मेदांता की पार्किंग में कार में ही पूर्व राजनयिक की मौत
2 COVID-19 के अधिक केस वाले जिलों में स्थानीय निरुद्ध क्षेत्र जैसे उपाय करें- सूबों से बोला MHA
3 MP: नहीं मिला शव वाहन, तो अंतिम संस्कार को मां की लाश ठेले पर ले जानी पड़ी गांव
यह पढ़ा क्या?
X