ताज़ा खबर
 

मायावती बोलीं, हम भूल गए 1995 का गेस्ट हाउस कांड, क्योंकि देश हित के लिए BJP को रोकना जरूरी

बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस लखनऊ में शुरू हो चुकी है। इस दौरान मायावती ने कहा कि हम 1995 का गेस्ट हाउस कांड भूल चुके हैं, क्योंकि देश हित के लिए बीजेपी को रोकना बहुत जरूरी है।

Author January 12, 2019 1:07 PM
लखनऊ में संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मायावती और अखिलेश यादव। फोटो सोर्स : एएनआई

बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस लखनऊ में शुरू हो चुकी है। इस दौरान मायावती ने कहा कि हम 1995 का गेस्ट हाउस कांड भूल चुके हैं, क्योंकि देश हित के लिए बीजेपी को रोकना बहुत जरूरी है। मायावती ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि हमारा गठबंधन बीजेपी का रास्ता रोक सकता है। लोगों की भलाई के लिए यह कदम काफी जरूरी है।’’ बता दें कि बीजेपी हर बार दावा करती है कि 2 जून, 1995 को लखनऊ में हुए गेस्ट हाउस कांड में उनके कार्यकर्ताओं ने सपा कार्यकर्ताओं से मायावती को बचाया था। वहीं, मायावती ने उस घटना को अपनी हत्या की कोशिश करार दिया था।

देश में लगी है अघोषित इमरजेंसी : मायावती ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘‘बीजेपी ने देश में इमरजेंसी से भी खराब माहौल बना रखा है। उन्होंने सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग किया है, जिससे देश में हालात काफी खराब हैं। बीजेपी को 1977 के चुनाव में कांग्रेस से भी बुरी हार का सामना करना पड़ेगा। साथ ही, कहा कि कांग्रेस से गठबंधन करने से कोई फायदा नहीं है।’’

सपा से पुराने गठबंधन का भी जिक्र किया : मायावती ने अपने भाषण के दौरान सपा के साथ पहले हुए दो गठबंधन का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि पिछली बार हमारे दलों के गठबंधन कुछ वजहों से टूट गए थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। हम देश हित में साथ आए हैं, जिससे जनता की स्थिति में सुधार हो सके।

यह हुआ था लखनऊ के गेस्ट हाउस में : जानकारी के मुताबिक, 2 जून 1995 को मायावती अपने विधायकों के साथ लखनऊ के गेस्ट हाउस में बैठक कर रही थीं। उस दौरान चर्चा थी कि बीएससी और बीजेपी का तालमेल होने वाला है। ऐसे में सपा कार्यकर्ताओं ने गेस्ट हाउस को घेर लिया और बीएसपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की। उस दौरान हमले से बचने के लिए मायावती एक कमरे में छिप गई थीं और उसे अंदर से बंद कर लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App