ताज़ा खबर
 

छात्र नेता उमर खालिद ने मांगी पुलिस सुरक्षा, बताया- गैंगस्टर रवि पुजारी के नाम से मिल रहीं धमकियां

खालिद ने जिग्नेव मेवानी को मिलने वाली धमकियों को लेकर भी ट्वीट किया था। उन्होंने कहा था, 'पिछले तीन दिनों में मेवानी को तीसरी बार जान से मारने की धमकी मिली है। इस बार जिस व्यक्ति ने मेवानी को धमकी दी है उसने यह भी बताया है कि उसकी लिस्ट में मेरा नाम भी शामिल है।

जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नेता उमर खालिद को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। खालिद ने इस मामले में दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। छात्र नेता ने जानकारी दी है कि उन्हें धमकी देने वाले ने खुद की पहचान फरार गैंगेस्टर रवि पुजारी बताया है। दलित नेता और गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने भी आरोप लगाया था कि उन्हें रवि पुजारी की तरफ से जान से मारने की धमकियां मिली है। खालिद ने शुक्रवार (8 जून) को दिल्ली पुलिस से संपर्क करके धमकी के संबंध में मामला दर्ज कराया। पुलिस अधिकारी ने बताया है कि वह मामले की जांच कर रहे हैँ। छात्र नेता ने ट्वीट कर पुलिस से सुरक्षा की मांग की थी।

खालिद ने जिग्नेव मेवानी को मिलने वाली धमकियों को लेकर भी ट्वीट किया था। उन्होंने कहा था, ‘पिछले तीन दिनों में मेवानी को तीसरी बार जान से मारने की धमकी मिली है। इस बार जिस व्यक्ति ने मेवानी को धमकी दी है उसने यह भी बताया है कि उसकी लिस्ट में मेरा नाम भी शामिल है। पत्रकार, कार्यकर्ता और जो कोई भी सरकार के खिलाफ बोलता है उसे धमकियां दी जा रही हैं, यह एक नियम बन गया है। यह काफी डरावना है।’ इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में उमर खालिद ने कहा, ‘मुझे और मेवानी को मिल रही जान से मारने की धमकियों के मामले में मैंने रवि पुजारी के खिलाफ दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। उसने मुझे कहा है कि मैं उसकी हिट लिस्ट में हूं। मैंने पुलिस से सुरक्षा की भी मांग की है। मैंने बताया है कि इसी व्यक्ति ने फरवरी 2016 में भी मुझे मारने की धमकी दी थी।’

आपको बता दें कि साल 2016 में खालिद के पिता सैयद कासिम इल्यास रसूल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्हें एक कॉल आया था, जिसमें सामने वाले शख्स ने कहा था कि अगर उनका बेटा देश नहीं छोड़ेगा तो उसे जान से मार दिया जाएगा। यह फोन कॉल उस वक्त आया था जब खालिद, कन्हैया कुमार और आनिरबान भट्टाचार्य के ऊपर अफजल गुरु को दी गई फांसी के खिलाफ जेएनयू में कार्यक्रम का आयोजन करने के कारण देशद्रोह का आरोप लगा था और पुलिस उनकी तलाश कर रही थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्कूल में भजन और सूर्य नमस्कार का विरोध, कहा- जबरन करवा रहा स्टाफ
2 VIDEO: भाजपा विधायक की गुंडागर्दी, थाने में घुस पुलिसकर्मी को जड़ दिया थप्पड़!
3 छलका शहीद स‍िपाही की बेटी का दर्द, बोलीं- अफसरों के पास मदद को गई तो उन्होंने धक्‍के मारकर न‍िकाल द‍िया
यह पढ़ा क्या?
X