ताज़ा खबर
 

10 मिनट देर से क्लास पहुंचे छात्र तो गुस्साए टीचर ने बना दिया मुर्गा, पीठ पर बरसाई छड़ी, वीडियो वायरल

टीचर मोहम्मद यासीन ने छात्र की स्कूल में 10 मिनट लेट आने पर छड़ी से पिटाई कर दी। इस पिटाई के बाद छात्र के शरीर पर छड़ी के निशान बने हुए हैं।

Author डोडा | June 20, 2019 4:52 PM
बच्चों की पिटाई करता हुआ टीचर फोटो सोर्स- ANI

जम्मू-कश्मीर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक स्कूल टीचर पर बच्चे को बुरी तरह पीटने का आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि कक्षा में सिर्फ 10 मिनट लेट आने पर टीचर द्वारा बच्चे की पिटाई की गई है। फिलहाल आरोपी टीचर को सस्पेंड कर दिया गया है और बाल कल्याण समिति के सामने पेश होने का आदेश दिया गया है। साथ ही ऐसा नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की बात भी कही गई है। इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है, जिसमें कई छात्र मुर्गा बने हुए दिख रहे हैं और टीचर उनपर छड़ी बरसा रहा है।

National Hindi News, 20 June 2019 LIVE Updates: दिन भर की तमाम बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

यह है मामला: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला डोडा जिले का बताया जा रहा है। जहां गुज्जर- बकरवाल हॉस्टल के टीचर मोहम्मद यासीन ने एक छात्र की क्लास में 10 मिनट लेट आने पर छड़ी से पिटाई कर दी। इस पिटाई के बाद छात्र के शरीर पर छड़ी के निशान बने हुए हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद गुर्जर-बकरवाल हॉस्टल डोडा के वार्डन ने मामले का संज्ञान लिया। उन्होंने उच्चाधिकारियों के निर्देश पर आरोपी टीचर सस्पेंड कर दिया है। वायरल फोटो में टीचर बच्चों के साथ बर्बता करता हुए देखा जा सकता है।

जांच के आदेश: आरोपी टीचर को गुज्जर -बकरवाल हॉस्टल के वार्डन सलाम दीन की अध्यक्षता वाली समिति द्वारा अंतरिम जांच के लिए बुलाया गया है। साथ ही इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन भी पीड़ित बच्चों के परिवार वालों को दिया गया है। गौरतलब है कि मामूली बातों पर स्कूल में बच्चों की पिटाई का यह कोई पहला मामला नहीं है। हाल ही में हिमाचल प्रदेश के वीरवार के एक स्कूल में टीचर पर प्रार्थना सभा के दौरान छात्र की पिटाई करने का आरोप लगा था। यहां टीचर ने मामूली बात पर बच्चे को कई थप्पड़ जड़ दिए थे, जिसके बाद बच्चे के परिजनों ने स्कूल में जमकर बवाल किया था। जिसके बाद आरोपी टीचर को सस्पेंड करना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App