ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर के लिए प्रधानमंत्री पैकेज का काम वित्त सचिव देखेंगे

महबूबा ने जेटली से मुलाकात कर प्रधानमंत्री विकास पैकेज के लिए एक अलग खिड़की खोलने का आग्रह किया था जिससे राज्य को संसाधनों के प्रवाह में तेजी लाई जा सके।

Author नई दिल्ली | Published on: April 14, 2016 1:14 AM
जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती। (पीटीआई फाइल फोटो)

केंद्र ने वित्त सचिव रतन वातल को जम्मू-कश्मीर के लिए संपर्क अधिकारी नियुक्त किया है, ताकि प्रधानमंत्री विकास पैकेज के तहत राज्य को पैसा देने में तेजी सुनिश्चित की जा सके। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ बैठक में अपने मंत्रालय से जुड़े सभी मुद्दों पर पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया। राज्य सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक जेटली ने मुख्यमंत्री को इस मामले में तेज कार्रवाई का भरोसा दिया। व्यय विभाग के सचिव रतन वातल को प्रधानमंत्री विकास पैकेज के लिए संयोजक नियुक्त किया गया है। वे राज्य के वित्त मंत्री डाक्टर हसीब द्राबू के साथ संपर्क में रहेंगे, ताकि राज्य को पैसा आसानी से और जल्द मिल सके।

महबूबा ने जेटली से मुलाकात कर प्रधानमंत्री विकास पैकेज के लिए एक अलग खिड़की खोलने का आग्रह किया था जिससे राज्य को संसाधनों के प्रवाह में तेजी लाई जा सके। उन्होंने ब्याज माफी के लिए 880 करोड़ रुपए, क्षतिग्रस्त ढांचे के लिए नीति आयोग की ओर से मंजूर 2000 करोड़ रुपए और जम्मू में विस्थापित लोगों के लिए 2000 करोड़ रुपए जल्द जारी करने का भी अनुरोध किया, ताकि मुआवजे का आबंटन शुरू किया जा सके। उन्होंने प्रधानमंत्री विकास पैकेज के लिए एक अलग खिड़की खोलने की जरूरत पर भी जेटली के साथ चर्चा की।

मुख्यमंत्री ने नियंत्रण रेखा पार खरीद-फरोख्त के लिए डालर में व्यापार के लिए रिजर्व बैंक की मंजूरी को देखते हुए सलामाबाद (बारामुला में) और चाका दा बाग (पुंछ में) मौजूदा वस्तु विनिमय की जगह बैंकिंग व्यवस्था लागू करने की जरूरत को भी रेखांकित किया। बयान के मुताबिक महबूबा ने मंजूरशुदा सूची में अतिरिक्त वस्तुओं को शामिल करने के लिए जेटली से हस्तक्षेप की भी मांग की, जिसके लिए भारत और पाकिस्तान के बीच संयुक्त कार्य समूह की अगली बैठक में इस मामले को तेजी से बढ़ाया जाए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories