ताज़ा खबर
 

J&K: पूर्व CM महबूबा मुफ्ती की बेटी ने SSG पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- छिप कर पीछा करने के बजाय अहम मुद्दों पर दें ध्यान

इल्तिजा मुफ्ती ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘कश्मीर में धक्कामुक्की किए जाने और अवैध रूप से हिरासत में रखे जाने के बाद, गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करने वाली एसएसजी अब मुझे परेशान कर रही है। सुरक्षा के नाम पर स्तंत्रता का मेरा अधिकार कम नहीं किया जा सकता।

Author नई दिल्ली | Updated: January 23, 2020 7:34 PM
जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी सना इल्तिजा जावेद(फाइल फोटो)

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने गुरुवार को अपने सुरक्षा दस्ते विशेष सुरक्षा समूह (एसएसजी) पर अपने ‘‘उत्पीड़न’’ का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय को ‘‘मेरी जैसी युवतियों का छिप-छिप कर पीछा करने’’ की बजाय अत्यंत महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए।
उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि एसएसजी, गुप्तचर ब्यूरो (आईबी) और सीआईडी घाटी में उन पर लगातार नजर रख रही है।

इल्तिजा मुफ्ती ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘कश्मीर में धक्कामुक्की किए जाने और अवैध रूप से हिरासत में रखे जाने के बाद, गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करने वाली एसएसजी अब मुझे परेशान कर रही है। सुरक्षा के नाम पर स्तंत्रता का मेरा अधिकार कम नहीं किया जा सकता। आतंकवादियों के साथ एक शीर्ष पुलिस अधिकारी के पकड़े जाने के मद्देनजर मैं निश्चित तौर पर उनके बिना सुरक्षित हूं।’’  उन्होंने कहा कि बेहतर होता अगर केन्द्रीय गृह मंत्रालय अपना ध्यान मेरी तरह युवतियों का छिप-छिप कर पीछा करने की जगह अपने संसाधन अत्यंत महत्वपूर्ण मुद्दों पर लगाए।

कश्मीर में राजनीतिक बंदियों की रिहाई, लोगों का डर दूर करने से होगी स्थिति सामान्य: महबूबा श्रीनगर, 23 जनवरी (भाषा) पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को कहा कि कश्मीर में राजनीतिक बंदियों की रिहाई, इंटरनेट बहाल करने और घाटी में लोगों का डर दूर करने से स्थिति सामान्य होगी, न कि विभिन्न मंत्रियों के फोटो खिंचवाने से।

महबूबा के ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट में कहा गया, ‘‘भाजपा सरकार के लोगों तक पहुंचने के विचार का मतलब है कि फोटो खिंचवाने के लिए भाजपा का कोई मंत्री फिरन (कश्मीर का पारंपरिक परिधान) और कश्मीरी काराकुली टोपी पहने। राजनीतिक बंदियों और अन्य लोगों को रिहा करने, इंटरनेट बहाल करने और जम्मू कश्मीर के लोगों का डर दूर करने से स्थिति सामान्य होगी।’’

पीडीपी नेता की बेटी इल्तिजा पांच अगस्त से तब से अपनी मां के ट्विटर हैंडल को संचालित कर रही हैं जब केंद्र द्वारा अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने के मद्देनजर महबूबा को नजरबंद कर दिया गया था। महबूबा केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद के उत्तरी कश्मीर के बारामूला दौरे को लेकर टिप्पणी कर रही थीं। कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में इंटरनेट सेवाएं अब भी लंबित हैं और महबूबा, फारूक अब्दुल्ला तथा उमर अब्दुल्ला सहित मुख्य धारा के कई नेता अब भी हिरासत में हैं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X