ताज़ा खबर
 

J&K: आतंक की राह छोड़ने के लिए युवाओं के लिए बना प्लान, सरेंडर करने वालों को मिलेंगे पैसे और जॉब!

जम्मू-कश्मीर सरकार ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक की अगुवाई में राज्य के नौजवानों का पुनर्वास करने के लिए नया प्लान बनाया है।

terroristsप्रतीकात्मक फोटो ( फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस )

जम्मू-कश्मीर में भटक कर आतंक की राह चुन चुके नौजवानों को वापस लाने के लिए राज्य सरकार नए प्लान पर काम कर रही है। इस प्लान के तहत सरकार हथियार उठा चुके नौजवानों के पुनर्वास के लिए सुधारक उपाय, एक मासिक वेतन और नौकरियां भी प्रदान करेगी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह प्रस्ताव पूरी तरह तैयार है। बताया जा रहा है कि इस पर राज्य के गृह विभाग और मुख्य सचिव की मंजूरी बाकी है। वहां से मुहर लगते ही इसे लागू कर दिया जाएगा।

भटके हुए नौजवानों का पुनर्वासः जम्मू-कश्मीर सरकार ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक की अगुवाई में राज्य के नौजवानों का पुनर्वास करने के लिए ऐसे कदम उठाए गए हैं। प्रस्ताव के अनुसार पुनर्वास को दो तरीके से लागू किया जाएगा। पहले चरण में भटके हुए नौजवानों को सरेंडर का प्रस्ताव देकर उनको एक नया जीवन शुरू करने का मौका दिया जाएगा। वहीं सरेंडर के बाद उन्हें सरकारी नौकरी और 6000 रुपए मासिक वेतन के रूप में देने की भी बात कही गई है। सरकार का मानना है कि ऐसे अवसरों से भटके हुए युवाओं को वापस मुख्य धारा में लौटने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि प्रस्ताव के मुताबिक जघन्य अपराध में शामिल आतंकियों को इसका लाभ नहीं दिया जाएगा। बता दें कि पुलवामा हमले के कुछ दिन बाद ही सेना के लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लो ने नौजवानों को सरकार की तरफ से अच्छे अवसर देने की बात कही थी। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है। वहां का सरकारी कामकाज राज्य प्रशासनिक परिषद (SAC) के तहत होते हैं। राज्यपाल के नेतृत्व में मुख्य सचिव BVR सुब्रमण्यम और उनके चार सलाहकार पर राज्य को संभालने का जिम्मा है।

 

पुनर्वास का प्रस्ताव पहले भी आया थाः सेना के अनुसार घाटी में सरेंडर नीति के तहत अब तक करीब 25 हजार नौजवानों का सफल पुनर्वास किया जा चुका है। बता दें कि 2004  में मुफ्ती मोहम्मद सईद के नेतृत्व वाली तत्कालीन PDP सरकार ने भी ऐसे प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। तब सरेंडर करने वाले युवाओं को प्रति माह दो हजार रुपए का वेतन देने के साथ उन्हें व्यापार करने का अवसर भी देने की बात कही थी। इसके साथ उनकी और उनके पूरे परिवार की काउंसिलिंग की भी व्यवस्था की गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दो घंटे का खूनी खेलः रिश्ते में भाई से अफेयर, मिलकर किया पति का मर्डर, फिर सगे भाई ने बहन को भी मार डाला
2 Pulwama Attack में शामिल जैश आतंकी समेत तीन ढेर, सेना ने एनकाउंटर कर लिया बदला
3 Bihar: मंडप में शराब पीकर पहुंचे दूल्हे ने की ऐसी हरकतें, दुल्हन ने लौटा दी बारात
ये पढ़ा क्या?
X