ताज़ा खबर
 

आतंकी हमले में एक जवान शहीद और अन्य घायल

कश्मीर के केरन सेक्टर में कल नियंत्रण रेखा पर सेना के एक गश्ती दल पर हुए हमले में घायल एक जवान की मौत हो गई।

Author श्रीनगर | June 8, 2018 19:06 pm
यह तस्वीर प्रतीक के तौर पर इस्तेमाल की गई है।

कश्मीर के केरन सेक्टर में कल नियंत्रण रेखा पर सेना के एक गश्ती दल पर हुए हमले में घायल एक जवान की मौत हो गई। नियंत्रण रेखा पर सीमा बाड़ से लगी अग्रिम चौकियों पर केरन सेक्टर में गश्ती कर रहे सैनिकों पर हुए आतंकी हमले में कल सिपाही सुखंविंदर सिंह और एक अन्य जवान घायल हो गए थे। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि तत्काल चिकित्सा सेवा के बाद घायल सिंह को यहां सेना के 92 शिविर अस्पताल में भर्ती कराया गया , जहां कल देर रात उनकी मौत हो गई। श्रीनगर के एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सेना ने यहां बदामीबाग में सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की।

प्रवक्ता ने बताया कि उत्तरी सेना कमांडर , लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह के साथ चिनार कॉर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट और अन्य रैंक के सैनिकों ने पूरे राष्ट्र की तरफ से उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने बताया कि अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने भी सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की। सिंह2012 में सेना में भर्ती हुए थे और पंजाब के बठिंडा जिले के हकमंिसगवाला गांव के रहनेवाले थे। उनके घर में उनके माता – पिता और दो भाई हैं। प्रवक्ता ने बताया कि सिंह के शव को अंतिम संस्कार के लिए उनके पैृतक नगर भेजा जाएगा , जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा। उन्होंने कहा कि इस दुख की घड़ी में सेना सिंह के शोकसंतप्त परिवार के साथ है।

गौरतलब है कि जम्मू एवं कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में गुरुवार को पाकिस्तान की ओर से भारत में घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकवादियोंके साथ मुठभेड़ में दो जवान घायल हो गए। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने आईएएनएस को बताया कि यह घटना केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास हुई। उन्होंने कहा, “दो जवान घायल हुए हैं। हमारे जवानों उनका मुंहतोड़ जवाब दिया। आतंकवादियों के खिलाफ अभियान जारी है।

प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने दो से चार आतंकवादियों की घुसैपठ को नाकाम कर दिया, जिसके बाद गोलीबारी शुरू हो गई। घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह घटना उस समय हुई है, जब केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह जम्मू एवं कश्मीर के दौरे पर हैं। वह संघर्षविराम को आगे बढ़ाने की संभावनाएं तलाशने के लिए घाटी के दौरे पर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App