ताज़ा खबर
 

गुजरात के MLA जिग्नेश मेवानी पर ‘फर्जी’ वीडियो ट्वीट करने का आरोप, केस दर्ज

मेवानी ने 20 मई को ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया था। उन्होंने इस वीडियो की प्रमाणिकता की भी जांच नहीं की थी। साथ ही, इस पोस्ट में उन्होंने पीएमओ के हैंडल को भी टैग किया था। इस वीडियो में एक शख्स बच्चों को स्केल और लातों से पीटता नजर आ रहा है।

जिग्नेश मेवानी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

गुजरात की वडगाम विधानसभा सीट से विधायक जिग्नेश मेवानी के खिलाफ सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो पोस्ट करने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। वलसाड पुलिस के मुताबिक, विधायक के खिलाफ एक प्रिंसिपल ने आरोप लगाया है कि मेवानी ने स्कूल की रेपुटेशन खराब की है। बता दें कि जिग्नेश मेवानी ने 20 मई को ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था। साथ ही, इस पोस्ट में उन्होंने प्रधानमंत्री ऑफिस (PMO) के ट्विटर हैंडल को भी टैग किया था। बताया जा रहा है कि विधायक ने उस वीडियो की प्रमाणितकता की भी जांच नहीं की थी।

क्या था वीडियो में? इस वीडियो में एक शख्स एक कमरे में बच्चों को स्केल से पीटता और लात मारता नजर आ रहा था। मेवानी ने ट्वीट में लिखा, ‘‘यह बर्बरता की हद है। इस वीडियो को सभी वॉट्सऐप नंबर और ग्रुप पर फॉरवर्ड करें। यह वलसाड के आरएमवीएम स्कूल का टीचर है। इस वीडियो को इतना ज्यादा शेयर करें कि टीचर और स्कूल दोनों बंद हो जाएं। यह वीडियो मुझे कहीं से मिला है। @PMOIndia बताएं कि यह क्या है?’’

National Hindi News, 16 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बाद में डिलीट किया वीडियो: कई ट्विटर यूजर्स ने मेवानी को जवाब दिया कि यह इजिप्ट का स्कूल है, न कि गुजरात का। इसके बाद मेवानी ने ट्वीट डिलीट कर दिया था। इस मामले में आएमवीएम स्कूल की प्रिंसिपल बिजल पटेल ने विधायक मेवानी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने आरोप लगाया कि विधायक ने बिना प्रमाणिकता जांचे वीडियो पोस्ट करके स्कूल और उसके शिक्षकों का नाम बदनाम किया है। मेवानी के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 और 500 के तहत केस दर्ज किया गया है।

मार्च 2017 में भी की थी शिकायत: वलसाड के एसपी सुनील जोशी के मुताबिक, स्कूल प्रिंसिपल का कहना है कि इस वीडियो से टीचर्स और स्टूडेंट्स के बीच अंतर आ गया है। एसपी ने बताया कि इस मामले में जिग्नेश मेवानी को कॉल करके उनका बयान दर्ज किया जाएगा। बता दें कि इस वीडियो की वजह से स्कूल के विवाद में फंसने का यह पहला मामला नहीं है। यह वीडियो करीब 2 साल से वॉट्सऐप ग्रुप पर घूम रहा है। स्कूल प्रबंधन ने मार्च 2017 में भी इस संबंध में शिकायत दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजस्थान: मालिकाना हक विवाद में जोधपुर स्थानीय कोर्ट में हुई गाय की पेशी!
2 यूपी: बीजेपी विधायक और पार्टी के ही नेता के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प, फायरिंग-पथराव में कई घायल, 17 गिरफ्तार
3 गुजरात: एंटी करप्शन ब्यूरो के रेडार पर बीजेपी के 3 नेता, लगे हैं घूसखोरी और भ्रष्टाचार के ये गंभीर आरोप
ये पढ़ा क्या?
X