ताज़ा खबर
 

किसान के खुदकुशी करने पर परिवार ने बताई खराब फसल की वजह, जिला उपायुक्त बोले- शराबी था

उपायुक्त ने बताया कि मृतक किसान के परिवार को केंद्र की उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन भी मिला हुआ था। खरिया की पत्नी मंगरी देवी ने कहा कि उन लोगों ने बेटे और बेटी की शादी के लिए जमीन गिरवी रखी थी।

Author गुमला | Updated: August 1, 2019 10:54 AM
परिवार वालों का कहना है कि बारिश की कमी के कारण धान की फसल खराब हो जाने के बाद से तनाव में था। (प्रतीकात्मक फोटो)

झारखंड में एक 50 वर्षीय किसान खराब आर्थिक स्थिति से निराश होकर कथित रूप से फांसी के फंदे पूर झूल गया। घटना राज्य के गुमला जिले के धधौली गांव में सोमवार की है। किसान की पहचान शिव खरिया के रूप में हुई है। परिवार वालों का कहना है कि बारिश की कमी के कारण धान की फसल खराब हो जाने के बाद से तनाव में था।

इस कारण उसकी मानसिक स्थिति भी बिगड़ गई थी। गुमला के उपायुक्त शशि रंजन ने कहा कि आत्महत्या के पीछे तनाव एकमात्र कारण नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानी शराब का भी आदी था। पिछले कुछ दिनों से उसने कुछ खाया नहीं था। इसके अलावा उसको बुखार भी था।

उपायुक्त ने बताया कि मृतक किसान के परिवार को केंद्र की उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन भी मिला हुआ था। खरिया की पत्नी मंगरी देवी ने कहा कि उन लोगों ने बेटे और बेटी की शादी के लिए जमीन गिरवी रखी थी। उन्होने कहा कि खेती मॉनसून के तीन-चार महीनों पर ही टिकी होती है। इसके बाद पूरे साल बारिश नहीं होती है।

उन्होंने बताया, ‘पिछले कुछ सालों से हम मुफ्त मिलने वाले अनाज पर जीवनयापन कर रहे थे। इसके अलावा हमारे खेत में कुछ चावल और उड़द पैदा हुई थी।’ मंगरी देवी ने बताया कि उनका बेटा बाहर गया हुआ है लेकिन उसके भेजे गए पैसे खर्च के लिए पर्याप्त नहीं हैं।

मृतक किसान खरिया के 25 वर्षीय बेटे ने कहा कि उनके पिता ने सोमवार को घर मे बने चावल और मांड नहीं खाया। वे भूखे ही सोने चले गए। अगले दिन उनका शव लटका हुआ मिला। किसान के परिवार के पास मनरेगा का जॉब कार्ड है लेकिन उन्होंने पिछले 5 साल के दौरान इस योजना के अंतर्गत कोई काम नहीं किया है।

इस मामले में ग्राम प्रधान सुशीला सोरेन का कहना है कि कसीरा पंचायत के अंतर्गत तीन गांवों में सभी लगभग खेती करते हैं। ये लोग अस्थायी रूप से मॉनसून के दौरान अन्य इलाकों में काम की तलाश में चले जाते हैं। इससे पहले रांची में भी एक किसान ने आत्महत्या कर ली थी। किसान के परिवार वालों ने आरोप लगाया था कि सरकार की तरफ उसको मनरेगा के तहत पैसों का भुगतान नहीं किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 UP: फिर बढ़ सकती हैं क्रिकेटर मोहम्मद शमी की मुश्किलें, पत्नी हसीन जहां की शिकायत के बाद हाईकोर्ट ने 5 पुलिस कर्मियों के खिलाफ जारी किया नोटिस
2 J&K: मलबे के नीचे फंसा था शख्स, CRPF के डॉग ने ऐसे बचाई जान
3 2017 में केरल से लापता हुआ था इंजीनियरिंग का छात्र, अब पता चला IS के लिए लड़ते हुए मारा गया
ये पढ़ा क्या?
X