ताज़ा खबर
 

दही-चूड़ा लेकर रांची जेल पहुंचे लालू समर्थक, राजद अध्यक्ष के साथ मनाना चाहते हैं मकर संक्रांति

मकर संक्रांति के मौके पर इस बार बिरसा मुंडा जेल में कैदियों के लिए खास इंतजाम किया गया है। कैदियों को जेल में ही दही-चूड़ा और तिलकुट दिया गया है। शाम को कैदियों को खाने में खिचड़ी दी जाएगी।
लालू यादव के समर्थक चूड़ा-दही लेकर जेल के अंदर जाने की मांग कर रहे हैं।

झारखंड की राजधानी रांची में बने बिरसा मुंडा जेल में इस बार मकर संक्रांति को लेकर अलग रौनक रही। जेल में चारा घोटाले के दोषी लालू प्रसाद यादव बंद है। जब लालू यादव पटना में होते थे उनका ये आयोजन काफी प्रसिद्ध रहता था। लेकिन लालू के समर्थक इस बार भी नहीं माने। चूड़ा-दही लेकर जेल ही पहुंच गये और चूड़ा, दही, गुड़, तिलकुट लेकर अंदर जाने देने की मांग करने लगे।  हालांकि जेल अधिकारियों ने किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया, लेकिन उनके समर्थक लगातार मिन्नतें कर रहे हैं। यहीं नहीं जेल अधिकारी जब तक लालू के कुछ समर्थकों को मनाते हैं नये समर्थक चूड़ा-दही लेकर पहुंच जाते हैं। लालू के कई समर्थक तो उनके लिए सब्जी भी लेकर आए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार को लालू यादव जेल में अनमने से दिखे। उन्होंने धूप में अखबार पढ़ा, फिर अपने सेल वापस चले गये।

मकर संक्रांति के मौके पर इस बार बिरसा मुंडा जेल में कैदियों के लिए खास इंतजाम किया गया है। कैदियों को जेल में ही दही-चूड़ा और तिलकुट दिया गया है। शाम को कैदियों को खाने में खिचड़ी दी जाएगी। इस बार पटना में लालू यादव के आवास पर मकर संक्रांति नहीं मनाई जा रही है। इसके पीछे दो वजह है। पहली वजह है लालू यादव का जेल में होना।, दूसरी वजह है लालू की बहन गंगोत्री देवी का निधन।

मकर संक्रांति के अवसर पर प्रत्येक वर्ष राजद अध्यक्ष की ओर से अपने आवास पर 14 और 15 जनवरी को दो दिन चूड़ा-दही-तिलकुट का भोज दिया जाता रहा है। लालू के आवास पर चूड़ा-दही भोज चर्चित रहा है। इस भोज के लिए एक पखवारे पूर्व से तैयारी प्रारंभ हो जाती थी। 14 जनवरी को जहां सभी लोगों को आमंत्रित किया जाता था, वहीं दूसरे दिन सिर्फ अल्पसंख्यक समाज के लोगों के लिए ही चूड़ा-दही भोज होता था। इस भोज में सत्ता पक्ष से लेकर विपक्ष के सभी दल के नेता और कार्यकर्ता पहुंचते थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.