ताज़ा खबर
 

चार मामलों में सजा होने के बावजूद चिंतित नहीं लालू, डॉक्‍टर बोले- वैसे ही मस्‍त हैं

25 मार्च को रांची के सरकारी अस्पताल में स्थित सुपर स्पेशियालिटी विंग में लालू के वार्ड में पहुंचे डॉक्टर उमेश प्रसाद ने कहा, "जेल की सजा पाने के बाद सामान्यतया लोग टूट जाते हैं, लेकिन लालू जी बहुत बड़ी चालाकी से अपनी भावनाओं को दूसरों के सामने जाहिर नहीं होने देते हैं।"

रांची स्थित RIMS में चारा घोटाले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव। (फोटो-सोशल मीडिया)

चारा घोटाले के एक मामले में 14 साल की सजा पा चुके लालू यादव का अंदाज अब भी पुराना है। वह चिंतित नहीं दिखते और अभी भी पहले जैसे ही मस्त रहते हैं। ये कहना है सजा सुनाये जाने के एक दिन बाद (25 मार्च) रांची स्थित रिम्स में लालू यादव का इलाज करने पहुंचे डॉक्टरों का। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों ने बताया कि लालू चेहरे पर अब भी पहले जैसे ही खुशमिजाजी दिख रही है। 25 मार्च को रांची के सरकारी अस्पताल में स्थित सुपर स्पेशियालिटी विंग में लालू के वार्ड में पहुंचे डॉक्टर उमेश प्रसाद ने कहा, “जेल की सजा पाने के बाद सामान्यतया लोग टूट जाते हैं, लेकिन लालू जी बहुत बड़ी चालाकी से अपनी भावनाओं को दूसरों के सामने जाहिर नहीं होने देते हैं, वह हमेशा की तरह एक्टिव दिखे और हमें यह नहीं पता चलने दिया कि उनके दिमाग में क्या चल रहा है।” डॉक्टरों ने कहा कि उनकी सक्रियता पहले जैसी ही है। रिम्स में सरकारी डॉक्टरों का एक मेडिकल बोर्ड उनकी सेहत पर पल-पल निगाह रखे हुए है।

लालू की सेहत पर नजर रख रहे मेडिकल बोर्ड के एक दूसरे डॉक्टर ने कहा कि जब शनिवार को बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा उनसे मिलने पहुंचे थे तो भी उन्होंने अपनी भावनाओं को बड़ी सफलतापूर्वक छुपा लिया था। शत्रुघ्न सिन्हा शनिवार को लालू यादव को सजा सुनाये जाने के बाद रिम्स में उनसे मिले थे। रांची के बिरसा मुंडा जेल में 6 जनवरी से सजा काट रहे लालू यादव पिछले एक सप्ताह से अस्पताल में हैं। उन्हें किडनी की समस्या है। हालांकि अब उनकी सेहत में सुधार आ रहा है, लेकिन डॉक्टर अभी भी उनके हाई ब्लड प्रेशर, बल्ड सुगर और क्रेटनाइन लेवल की लगातार जांच कर रहे हैं।

24 मार्च को शत्रुघ्न सिन्हा ने रांची के सरकारी अस्पताल में लालू यादव से मुलाकात की। (फोटो-Twitter/@ShatruganSinha)

बता दें कि सबसे ताजा केस में अविभाजित बिहार के दुमका कोषागार (अब झारखंड) से 3 करोड 13 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू यादव को 14 साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उनपर 60 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App