rajdhani express passengers hungry and thirsty 16 hours after the catering staff de-board - राजधानी एक्सप्रेस का हाल: आधे अटेंडेंट ड्यूटी पर नहीं आए, कैटरिंग स्टाफ बीच मे ही उतर गया, मुसाफिरों को पानी तक नहीं मिला - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राजधानी एक्सप्रेस का हाल: आधे अटेंडेंट ड्यूटी पर नहीं आए, कैटरिंग स्टाफ बीच मे ही उतर गया, मुसाफिरों को पानी तक नहीं मिला

इसके बाद यात्रियों ने जाकर साउथ ईस्टर्न रेलवे के रांची डिवीज़न के वरिष्ठ अधिकारी से इस मामले की शिकायत की।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

भारतीय रेलवे की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है जहां पर राजधानी एक्सप्रेस में करीब 16 घंटों तक लोगों को पानी तक नसीब नहीं हुआ। राजधानी एक्सप्रेस अपनी अच्छी व्यवस्था के लिए ही जानी जाती है लेकिन इस घटना के सामने आने के बाद इसकी व्यवस्था पर सवाल खड़े होते हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली से रांची जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में सौ से भी ज्यादा संख्या में लोग सफर कर रहे थे। इस एक्सप्रेस में आधे से ज्यादा अटेंडेंट अपनी ड्यूटी पर नहीं आए थे और कॉन्ट्रेक्ट पर नियुक्ट कैटरिंग स्टाफ भी सफर के बीच में ही उतर गया था। करीब 16 घंटे तो मुसाफिर भूखे और प्यासे रहे। इस अव्यवस्था के कारण यात्रियों को बहुत गुस्सा आया।

ट्रेन सुबह के 9:30 बजे कानपुर सेंट्रल स्टेशन पहुंची तो गुस्साए यात्री पेंट्री से जाकर खाना उठा लाए और कुछ यात्रियों ने स्टेशन पर मौजूद विक्रेताओं से खाने का सामान खरीदा। राजधानी करीब पांच घंटे तक स्टेशन पर रुकने के बाद आगे रवाना की गई। एक यात्री नुसरा खातून ने बताया कि हमने कोच अटेंडेंट से कई बार पानी की बोतल देने के लिए कहा लेकिन बार-बार विन्नती करने के बावजूद उन्होंने बोतल लाकर नहीं दी। नुसरा खातून अपने पोते के साथ रांची जा रही थीं। इस सफर के दौरान कई यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

गुरुवार को राजधानी रांची पहुंची। इसके बाद यात्रियों ने जाकर साउथ ईस्टर्न रेलवे के रांची डिवीज़न के वरिष्ठ अधिकारी से इस मामले की शिकायत की। इस पर बात करते हुए अधिकारी ने कहा कि हम इस मामले की पूरी जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है की आगे भविष्य में फिर कभी इस प्रकार की गलती न हो। अधिकारी ने कहा कि राजधानी में कैटरिंग का काम नॉर्थ रेलवे देखता है। हम इस बारे में उनसे भी बात करेंगे। अधिकारी ने कहा कि इस ट्रेन में 17 कोच हैं और प्रत्येक कोच में दो अटेंडेंट होने चाहिए लेकिन 17 अटेंडेंट अपनी ड्यूटी से नदारद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App