ताज़ा खबर
 

मेले से उठाई 3 साल की बच्ची, बेहोश होने पर भी सिपाही और दोस्त कर रहे थे रेप, भीड़ ने एक को दबोचा

पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर किया गया है।

झारखंड में एक पुलिसकर्मी और उसके दोस्त द्वारा तीन साल की बच्ची के साथ कथित रूप से रेप करने का मामला सामने आया है। शनिवार शाम को दोनों ने चतरा जिले के बार्ता गांव में दूर्गा पूजा के मेले से बच्ची को उठाया था। स्थानीय लोगों ने बच्ची के पिता के साथ एक आरोपी को उस वक्त दबोच लिया, जब वह बेहोश बच्ची के साथ नदी किनारे रेप कर रहा था। युवक की पहचान विजय भुइयां के रूप में हुई है। आरोपी को पुलिस को सौंप दिया गया, जबकि बच्ची को हजारीबाग सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

दूसरा आरोपी सिपाही मुकेश डांगी अभी फरार है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और फरार आरोपी की तलाश कर रही है। हिंदुस्तान टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में चतरा के एसपी अंजनी कुमार झा के हवाले से लिखा है कि विजय के कपड़ों पर खून के धब्बे मिले है, जिससे साफ जाहिर होता है कि वह अपराध में शामिल था। झा ने साथ ही कहा, ‘हमने उससे पूछताछ की है। उसने स्वीकार किया है कि उसने शराब के नशे में इस अपराध को अंजाम दिया है।’

डांगी राची पुलिस में बतौर कांस्टेबल तैनात था, लेकिन वह पूजा के लिए छुट्टियों पर घर आया हुआ था। जब पीड़ित बच्ची को होश आया तो उसने पुलिस को बताया कि वह अपने पिता के साथ दुर्गा पूजा मेले में गई थी। जब उसके पिता उसे मोटरसाइकिल पर पीछे बैठाकर पास की दुकान से कुछ खरीदने चले गए तो दोनों ने उसे उठा लिया।

एचटी की रिपोर्ट में लिखा गया है कि जब बच्ची का पिता वापस आया तो देखा कि उसकी बेटी वहां से गायब है। पिता ने कहा, ‘मैं उस जगह पर अपनी बेटी को ढूंढ़ रहा था, लेकिन नाकाम रहा। इसके बाद मैंने वापस घर जाने का फैसला किया कि हो सकता है वह वहां मिल जाएगी। मैं वापस घर आ रहा था तभी देखा कि भुइयां मेरी बेटी के ऊपर आपत्तिजनक हालत में लेटा हुआ था। इसके बाद मैंने शोर मचाया, जिसे देखकर वहां से गुजर रहे लोग मेरी मदद को आगे आए। हम लोगों ने भुइयां को दबोकचकर पुलिस के हवाले कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Rajeev
    Oct 2, 2017 at 11:31 pm
    गौ रक्षा के नाम पे मार देते है लेकिन ऐसे केस में मार मार के मार देना चाहिए था न.
    (0)(0)
    Reply