ताज़ा खबर
 

पत्नी का सिर काट पलंग में छुपाया, गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने पहुंचा थाने, बेटी ने खोल दी पोल

पुलिस के मुताबिक आरोपी विनोद पाठक सेंट्रल माइन प्लानिंग एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट में हेड क्लर्क है। मृतका अन्नू पाठक से उसकी अक्सर किसी महिला को लेकर लड़ाई होती रहती थी।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

झारखंड के हजारीबाग में एक शख्स ने अपनी पत्नी का सिर धड़ से अलग कर दिया। इसके बाद इस शातिर शख्स ने पुलिस और अपने रिश्तेदारों को चकमा देने के लिए पुलिस में पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने पहुंचा। पर इस दरिंदे की चाल को इसकी बेटी ने खोलकर रख दिया। यह घटना हजारीबाग के जयप्रभा नगर की है। घटना के बाद आरोपी फरार है। पुलिस का कहना है कि यह मामला अवैध संबंध का हो सकता है, लेकिन असली कारण की अब भी जांच की जा रही है। पुलिस के मुताबिक इस शख्स ने सोमवार (29 जनवरी) को इस घटना को अंजाम दिया, लेकिन मामले का खुलासा 30 जनवरी को हुआ। पुलिस के मुताबिक पत्नी का कत्ल करने के बाद शख्स बड़ा बाजार थाना पहुंचा और पत्नी की गुमशुदगी का आवेदन दिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी विनोद पाठक सेंट्रल माइन प्लानिंग एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट में हेड क्लर्क है। मृतका अन्नू पाठक से उसकी अक्सर किसी महिला को लेकर लड़ाई होती रहती थी। इस मामले की पुलिस में शिकायत में करने वाली महिला की बड़ी बेटी कीर्ति पाठक ने बताया कि 29 जनवरी को वह और उसकी बहन वाणी (13) और भाई वंश (11) स्कूल गये थे। स्कूल से लौटने पर जब उन्होंने अपनी मां को घर पर नहीं पाया तो इन लोगों ने अपने पिता से पूछा कि मां कहां गई है, इस पर विनोद पाठक ने कहा कि वह भाग गयी है।

इस दौरान महिला के कमरे में ताला लगा रहा। जब भी बच्चे मां के बारे में पूछते तो आरोपी उन्हें मारने दौड़ता। आखिरकार बच्चे उस रात को सो गये। अगली सुबह आरोपी ने पुलिस में पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसी बीच बड़ी बेटी कीर्ति पाठक ने पुलिस को फोन कर बताया कि उसी मां गायब है और हो सकता है कि उसके पिता ने मां की हत्या कर दी है। पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंची और महिला के कमरे का ताला तोड़कर दिवान से महिला के शव को बरामद कर किया। इस घटना के सामने आने के बाद बच्चों का रो- रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार किया जाएगा और मामले की असली वजह सामने आएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App