ताज़ा खबर
 

डिजिटल इंडिया का हाल: खराब नेटवर्क के चलते 15% भूमि लगान वसूली नहीं हुई

राज्य में दूरदराज के इलाकों में बहुत से ऐसे गांव हैं जहां नेटवर्क की समस्या के चलते पिछले दो वर्ष से भूमि लगान की वसूली नहीं की जा सकी है। वहां अब आफलाइन भी भूमि लगान वसूली की आदेश दिये गये हैं।

Author Published on: June 20, 2019 6:35 AM
अब आफलाइन भी भूमि लगान वसूली की आदेश दिये गये हैं।

झारखंड में सूचना प्रौद्योगिकी की क्रांति और सब कुछ आनलाइन कर देने के का दावा करने वाली रघुवर दास सरकार ने आज स्वीकार किया कि राज्य में कई ऐसे गांव हैं जहां नेटवर्क की समस्या के चलते आनलाइन भूमि लगान की वसूली नहीं की जा सकी है जिससे इसमें 15 प्रतिशत तक की कमी आयी है। झारखंड के राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के सचिव के के सोन ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी।

सोन ने एक सवाल के जवाब में कहा कि राज्य में दूरदराज के इलाकों में बहुत से ऐसे गांव हैं जहां नेटवर्क की समस्या के चलते पिछले दो वर्ष से भूमि लगान की वसूली नहीं की जा सकी है। वहां अब आफलाइन भी भूमि लगान वसूली की आदेश दिये गये हैं। यह पूछे जाने पर कि आनलाइन भूमि लगान की वसूली कब प्रारंभ हुई थी, और इन क्षेत्रों में इस व्यवस्था के असफल होने से सरकार को कितना नुकसान हुआ है, सोन ने कहा, ‘‘आनलाइन लगान :टैक्स: की वसूली दो वर्ष पूर्व प्रारंभ हुई थी लेकिन बड़ी संख्या में दूरदराज के गांवों में नेटवर्क के काम न करने के कारण आनलाइन लगान वसूली नहीं हो सकी है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस व्यवस्था के इन गांवों में विफल होने से लगान वसूली में कितनी कमी आयी है इसकी सही-सही जानकारी तो नहीं है लेकिन अनुमान के अनुसार कम से कम 15 प्रतिशत तक लगान की वसूली नहीं हो सकी है।’’ इसी बात को ध्यान में रखते हुए गांवों में मानकी मुंडा एवं माझी आदि के रिक्त पदों को भरने के लिए भी पहल की गयी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 झारखंड: मुस्लिम लड़की से शादी करने के लिए किया धर्म परिवर्तन
ये पढ़ा क्या?
X