ताज़ा खबर
 

लालू यादव को रोजाना 44 यूनिट इंसूलिन, फिर भी नहीं घट रहा शुगर लेवल, खाना बनाने, ले जाने, परोसनेवालों पर कड़ी नजर

लालू यादव पंद्रह बीमारियों से ग्रस्त हैं। उन्हें 19 दवाइयां दी जा रही हैं। वो शुगर के अलावा हार्ट, किडनी, हाइपरटेंशन, डिप्रेशन, हार्निया, आंखों की बीमारी से जूझ रहे हैं।

रांची स्थित RIMS में चारा घोटाले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव। (फोटो-सोशल मीडिया)

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव इन दिनों रांची के रिम्स के कॉर्डियोलॉजी विभाग में भर्ती हैं। उनका शुगर लेवल कम नहीं हो पा रहा है जबकि डॉक्टर उन्हें कुल 44 यूनिट इन्सूलिन दे रहे हैं। रविवार को उनका फास्टिंग ब्लड शुगर 214 था, जबकि खाने के बाद का ब्लड शुगर (पीपी) भी निर्धारित मानक से ज्यादा था। हालांकि, रिम्स के डॉक्टरों ने कहा है कि धीरे-धीरे इन्सूलिन की मात्रा बढ़ाने से उनका शुगर लेवल कंट्रोल हो जाएगा। पिछले मंगलवार (01 मई) को जब लालू यादव को एम्स से लाकर रिम्स में शिफ्ट किया गया था तब उनका इन्सुलिन बदला गया था। एम्स में उन्हें जेनरिक दवा दी जा रही थी जबकि रिम्स ने उसे बदलते हुए ब्रांडेड कर दिया था। फिलहाल एम्स के डॉक्टरों की सलाह पर रिम्स के डॉक्टर राजद अध्यक्ष का इलाज कर रहे हैं। डॉक्टरों का मानना है कि अचानक इंसूलिन की मात्रा नहीं बढ़ाई जा सकती है। इससे मरीज के हाइपोग्लोसिमिया में जाने का खतरा रहता है।

सोमवार (07 मई) को लालू यादव का फिर से मेडिकल टेस्ट किया जाएगा। उसके बाद डॉक्टरों की टीम आगे की रणनीति पर चर्चा करेगी। फिलहाल उन्हें टहलने की सलाह और ताजा यानी गर्म खाना खाने की सलाह दी गई है। दो दिन पहले ही लालू यादव को शनिवार को सुबह में सड़ा हुआ अंडा नाश्ते में दिया गया था। इस पर बवाल मचने के बाद रिम्स प्रबंधन ने लालू यादव के लिए खाना बनाने, उसे पैक करने, वार्ड में ले जाने और परोसने के लिए अलग-अलग कर्मचारी की ड्यूटी लगाई है। रिम्स के डायरेक्टर ने लालू प्रसाद यादव के खाने के लिए विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

लालू यादव पंद्रह बीमारियों से ग्रस्त हैं। उन्हें 19 दवाइयां दी जा रही हैं। वो शुगर के अलावा हार्ट, किडनी, हाइपरटेंशन, डिप्रेशन, हार्निया, आंखों की बीमारी से जूझ रहे हैं। चारा घोटाले के तीन मामलों में सजा पाने के बाद वो पिछले साल दिसंबर के आखिरी हफ्ते से रांची की बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं। बाद में बेचैनी की शिकायत पर उन्हें रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान किडनी में इन्फेक्शन की बात पता चली। इसके इलाज के लिए लालू को करीब एक महीने तक दिल्ले की एम्स में रखा गया। 30 अप्रैल को उन्हें एम्स से डिस्चार्ज कर दिया गया था। तब उन्होंने इसमें सियासी साजिश की बात कही थी और एम्स निदेशक को चिट्ठी लिखकर कहा था कि अगर उन्हें कुछ हुआ तो इसके जिम्मेदार आपलोग होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App