ताज़ा खबर
 

प्रिंसिपल ने बच्‍ची को टॉयलेट में ले जाकर गलत तरीके से छुआ, पुलिस से कहा- बूढ़ा हूं, और कुछ कर नहीं सकता था

आरोपी के खिलाफ पोस्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

झारखंड में एक स्कूल प्रिंसिपल द्वारा 7 साल की छात्रा का यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। आरोपी प्रिंसिपल मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूल कर चुका है, लेकिन उसका कहना है कि यह कोई बड़ी गलती नहीं है क्योंकि उसने बच्ची के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए। एनडीटीवी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में आरोपी के खिलाफ पोस्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। यह घटना कोडरमा जिले के एक स्कूल की है, जिसे आरोपी चलाता है। आरोपी एस ज़ेवियर पर आरोप है कि वह बुधवार को बच्ची को अपने साथ टॉयलेट में ले गया था, जहां पर उसने बच्ची के कपड़े उतार दिए और उसे गलत तरीके से छूने की कोशिश करने लगा।

आरोपी के इस कृत्य से बच्ची ने जब रोना शुरु कर दिया तो आरोपी ने उसे पैसे दिए और कहा कि वह यह बात किसी को न बताए। मीडिया के सामने आरोपी ने कहा कि “हां, मैंने यह काम किया लेकिन यह कोई बड़ी गलती नहीं है क्योंकि बच्ची के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए गए हैं। खुलकर बोलूं तो मैं यह कर भी नहीं सकता क्योंकि मैं अब बहुत बूढ़ा हूं। यह केवल एक दुर्घटना थी। मैं बहुत तनाव में हूं क्योंकि मेरा काम ठीक से नहीं चल रहा है। मुझे दिल की बीमारी है और कई बार तो मैं रात में सो भी नहीं पाता।” आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से उसे 15 दिनों के लिए जेल भेज दिया गया है।

यह मामला शुक्रवार को सामने आया था जब पीड़ित बच्ची ने इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी। पुलिस ने बच्ची का मेडिकल टेस्ट कराया है जिसकी रिपोर्ट आना अभी भी बाकी है। कोडरमा पुलिस थाने की वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शिवानी तिवारी ने इस मामले की जानकारी देते हुए कहा यह बहुत ही संवेदनशील और गंभीर अपराध है। इस मामले की पूरी जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.