ताज़ा खबर
 

नहीं हुआ COVID-19 टेस्ट, फिर भी अस्पताल ने बता दिया पॉजिटिव, एक को 10 दिन तक रखा गया क्वारंटीन

उन्होंने बताया कि पहली शिकायत के अनुसार एक महिला और पुरुष कोविड-19 की जांच के लिए सदर अस्पताल पहुंचे थे, लेकिन लाइन लंबी होने के कारण बिना जांच कराए लौट गए। बाद में दोनों को मोबाइल पर संदेश आया कि वे संक्रमित हैं।

Author रामगढ़ | Updated: August 29, 2020 10:22 PM
Coronavirus, COVID-19, Ramgarh, JharkhandCOVID-19 टेस्ट कराती एक महिला। (प्रतीकात्मक फोटोः पीटीआई)

झारखंड के रामगढ़ जिले में दो ऐसे मामले सामने आए हैं जहां जांच के लिए नमूना लिए बगैर ही उन्हें संक्रमित बता दिया गया, वहीं भाजपा के एक स्थानीय नेता को बिना जांच के 10 दिन तक कोविड-19 अस्पताल में भर्ती रखा गया।

रामगढ़ की मुख्य चिकित्साधिकारी (सिविल सर्जन) डॉक्टर नीलम चौधरी ने बताया कि इन दोनों मामलों की जांच के आदेश दिये गये हैं और इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने बताया कि पहली शिकायत के अनुसार एक महिला और पुरुष कोविड-19 की जांच के लिए सदर अस्पताल पहुंचे थे, लेकिन लाइन लंबी होने के कारण बिना जांच कराए लौट गए। बाद में दोनों को मोबाइल पर संदेश आया कि वे संक्रमित हैं, इसे लेकर उन्होंने विरोध दर्ज कराया और इसकी जानकारी सदर अस्पताल में दी।

एक अन्य घटना में भाजपा के एक स्थानीय नेता को जांच की रिपोर्ट आने से पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित बताकर अस्पताल में भर्ती कर दिया गया और 10 दिन बाद रिपोर्ट में उनके संक्रमित नहीं होने की पुष्टि होने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

सूचना के अनुसार, अस्पताल से बाहर निकलने के बाद भाजपा नेता ने इसे लेकर अपने समर्थकों के साथ अस्पताल और जिला प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने सवाल किया, ‘‘आखिर किस आधार पर मुझे 10 दिन तक कोविड-19 केन्द्र में भर्ती रखा गया।’’

डॉक्टर चौधरी ने बताया, ‘‘इस मामले की भी जांच की जा रही है। पता किया जा रहा है कि बिना रिपोर्ट आए उक्त व्यक्ति को कोविड-19 केन्द्र में कैसे भर्ती रखा गया था?’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020: नीतीश की पार्टी में गए जुलाई में रिटायर हुए DG सुनील कुमार, गुप्तेश्वर पांडे और एक पूर्व DGP के भी JDU से लड़ने की अटकल
2 UP में अपराध बेलगाम! लखनऊ में रेलवे अधिकारी की पत्नी और बेटे की नाबालिग बेटी ने की हत्या
3 ‘टू व्हीलर पर न चलें, सरकारी बुलेट प्रूफ कार से ही चलें’, बीजेपी के इकलौते विधायक को पुलिस की नसीहत, जानें- कौन हैं राजा सिंह?
यह पढ़ा क्या?
X