ताज़ा खबर
 

रिम्स में जहां इलाज करवा रहे लालू यादव, वहां सुरक्षा कारणों से 18 कमरे रखे गए खाली, पूर्व सीएम ने हेमंत सोरेन को लिखी चिट्ठी

भाजपा नेता और झारखंड में विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने इस मुद्दे पर सीएम हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखकर अपनी चिंता जाहिर की है।

lalu prasad yadav rims covid19बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव। (फाइल फोटो)

चारा घोटाले में सजा काट रहे राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव का रांची के रिम्स अस्पताल में इलाज चल रहा है। रिम्स में लालू प्रसाद यादव की कथित सुरक्षा के लिए 18 कमरे खाली रखे गए हैं। कोरोना संकट के समय, जब बीमार लोगों को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे हैं, इतनी बड़ी संख्या में कमरों को खाली रखने पर हंगामा हो गया है। भाजपा नेता और झारखंड में विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने इस मुद्दे पर सीएम हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखकर अपनी चिंता जाहिर की है। बताया जा रहा है कि किसी मरीज से लालू प्रसाद यादव को कोरनो का संक्रमण ना फैल जाए, इसलिए कमरों को खाली रखा गया है।

दूसरी तरफ झारखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अस्पताल में पर्याप्ट बेड नहीं मिलने पर फर्श पर ही बेड लगाकर मरीजों का इलाज किया जा रहा है। पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने सीएम को लिखी चिट्ठी में नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा है कि एक तरफ मरीज बेड के लिए परेशान हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ रिम्स में 18 कमरे बेवजह बंद रखे गए हैं। मरांडी ने लिखा कि इन 18 कमरों में कम से कम 40 मरीजों का इलाज तो हो ही सकता है।

मरांडी ने लिखा कि कोरोना जैसे नाजुक मौके पर इस प्रकार की मनमानी और संवेदनहीनता समझ से परे है। सीएम को इस पर तुरंत संज्ञान लेना चाहिए। मरांडी ने चिट्ठी में ये भी लिखा कि ‘लालू यादव संवेदनशील व्यक्ति हैं, हो सकता है कि यह सब उनकी जानकारी में ना हो। मुझे विश्वास है कि जब उन्हें पता चलेगा कि उनकी सुरक्षा के नाम पर कुछ लोग मनमानी कर रहे हैं तो वह कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।’

उल्लेखनीय है कि जिस रिम्स अस्पताल में यह सब हो रहा है, वहां कोरोना संक्रमण रौद्र रूप में फैल चुका है। स्थिति ये है कि बीते 16 दिनों में रिम्स में करीब 42 डॉक्टर और 9 नर्स कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। बीते शुक्रवार को ही यहां 7 डॉक्टर और 4 नर्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें स्त्री विभाग की चार सीनियर डॉक्टर, एनेस्थिसिया का एक पीजी स्टूडेंट, शिशु विभाग का पीजी स्टूडेंट, एक इंटर्न डॉक्टर, मेडिसिन विभाग का एक जूनियर डॉक्टर व 4 स्टाफ नर्स शामिल हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पारिवारिक विवाद में कांस्टेबल ने क्वारंटीन सेंटर में खाया जहर, बिहार में खाद खरीदने की होड़ में उड़ीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
2 बिहार: डेढ़ लाख बाढ़ विस्थापितों का पेट भरने के लिए मात्र 20 चूल्हे, नीतीश सरकार के सामुदायिक किचन की खुली पोल
3 ‘एक प्याली चाय दूर कर सकती है राजस्थान संकट’, पूर्व गवर्नर ने 10 जनपथ को सुझाया फार्मूला
ये पढ़ा क्या?
X