ताज़ा खबर
 

झारखंड में 2 बच्चों के शव मिलने से हड़कंप, परिजनों ने बताया ‘नर बलि’, पुलिस ने कहा- यौन शोषण का मामला

प्रदेश के लातेहार जिले के एक गांव में शुक्रवार को दो बच्चों की सिर कटी लाश मिलने के बाद लोग नर बलि की आशंका से व्याप्त हैं। पुलिस ने इस मामले में एक 40 वर्षीय दुकानदार को गिरफ्तार किया है।

Author लातेहार | July 13, 2019 8:59 AM
एक बच्ची बुधवार को दुकान से सामान लेने गई थीं, इसके बाद घर नहीं लौटीं। (प्रतीकात्मक फोटो)

झारखंड के लातेहार जिले में शुक्रवार को दो बच्चों की सिर कटी लाश मिलने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। बच्चियों के परिजनों ने ‘नर बलि’ की आशंका व्यक्त की है। इनमें से एक बच्ची 5 साल और दूसरी लड़का 10 साल का है। इन बच्चियों के शव रेत में दबे थे। हालांकि, पुलिस इस मामले को ‘नर बलि’ मानने से इनकार कर रही है।

पुलिस का कहना है कि अभी तक सिर्फ एक ही सिर मिला है। पुलिस में इस मामले में गांव के ही एक 40 वर्षीय दुकानदार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दुकानदार के खिलाफ हत्या और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। बच्ची की मां के अनुसार 5 वर्षीय बेटी आरोपी दुकानदार की दुकान पर बुधवार सुबह गई थी। इसके बाद वो नहीं लौटी। मां ने सोचा कि कही वो अपने किसी रिश्तेदार के यहां चली गई होगी। जब वह नहीं लौटी तो उसकी तलाश शुरू की गई।

वहीं, 10 साल के लड़के के पिता ने बताया कि आरोपी दुकानदार उनके साथ काफी घुलामिला था। वह अक्सर उनकी मोटरसाइकिल मांग कर ले जाता था। मंगलवार की रात को दुकानदार ने अपने रिश्तेदार से बात करने के लिए लड़के के पिता का मोबाइल फोन मांगा। बाद में उसने मोबाइल फोन नहीं लौटाया। इसके बाद उन्होंने अपने 10 साल के बेटे को दुकानदार के पास मोबाइल फोन मांगने के लिए भेजा। उन्होंने यह भी बताया कि जब उनका लड़का नहीं लौटा तो उन्हें लगा कि लड़का मोबाइल पर गेम खेलने में लग गया होगा।

लड़के के पिता ने कहा, ‘दोपहर में जब आरोपी से पूछा कि क्या उसने मेरे बेटे को फोन दे दिया। उसने हां, में जवाब दिया और मैं लौट आया।’ उन्होंने बताया कि इसके बाद आरोपी उनके घर आया और मोटरसाइकिल ले गया। तब तक भी उस पर उन्हें शक नहीं हुआ। इस मामले में लातेहार एसपी प्रशांत आनंद ने कहा कि ‘नर बलि’ का कोई सबूत नहीं मिला है बल्कि यह मामला यौन उत्पीड़न के बाद हत्या का लगता है।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि गांव वालों को नर बलि का शक है लेकिन ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है। आरोपी ने बताया कि उसने लड़की को यौन उत्पीड़न करने के मकसद से पकड़ा था। तभी वहां लड़का भी पहुंच गया। वह दोनों को अपने घर में ले गया और उनके कपड़े उताकर उनका उत्पीड़न किया। हालांकि, दोनों बच्चों के परिजन यह मानने से इनकार कर रहे हैं कि उनके बच्चों की हत्या उत्पीड़न के बाद की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App