ताज़ा खबर
 

झारखंड: राशन की दुकान पर लगा पोस्टर, लिखा- भूख से मरने से पहले अपने डीलर से भेंट करें

अक्टूबर 2017 में 11 साल की संतोष कुमारी के भूख से मरने की खबर सामने आई। इस मामले में बताया गया कि आधार कार्ड राशन कार्ड से लिंक ना होने के कारण राशन नहीं मिल पाया जिसके बाद भूख से संतोष कुमारी की मौत हो गई।

राशन की दुकान पर लगा पोस्टर। तस्वीर कविता श्रीवास्तव ने ट्वीट की है।

झारखंड में भूख से मरने की खबरों के बीच एक बेहद हैरान करने वाला मामला सामने आया है। प्रदेश के पश्चिम सिंहभूम जिले के टंटनगर ब्लॉक में एक सरकारी राशन की दुकान वाले ने अपनी दुकान पर बड़ा अजीब पोस्ट चिपकाया है। राशन की दुकान पर लगे इस पोस्टर में लिखा गया है कि कोई बी कार्डधारी या अन्य ग्रामीण भूख से मरने से पहले अपने डीलर से भेंट करे। मानवाधिकारों के लिए काम करने वाली एक्टिविस्ट कविता श्रीवास्तव ने दुकान पर लगे पोस्टर की तस्वीर ट्वीट की है। कविता ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि राशन कार्ड से आधार लिंक ना होने के कारण हुई 6 मौतों पर ये है सरकार का रिसपॉन्स। आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक झारखंड में अब तक राशन कार्ड से आधार कार्ड लिंक ना होने के कारण 6 लोगों की मौत हो चुकी है।

आपको बता दें कि पिछले साल 27 मार्च को झारखंड सरकार के आदेश के चलते उन सभी राशन कार्ड को रद्द कर दिया गया था जो आधार कार्ड से लिंक नहीं थे। इसके बाद सितंबर में सरकार ने 11 लाख राशन कार्ड को फर्जी या डुप्लीकेट बताते हुए रद्द कर दिया। अक्टूबर महीने में 11 साल की संतोष कुमारी के भूख से मरने की खबर सामने आई। इस मामले में बताया गया कि आधार कार्ड राशन कार्ड से लिंक ना होने के कारण राशन नहीं मिल पाया जिसके बाद भूख से संतोष कुमारी की मौत हो गई।

इस घटना के बाद से 4 और लोगों के बूख से मरने की खबरें मीडिया की सुर्खियां बनीं। हालांकि सरकार की तरफ से भूख से मौत के दावों को नकार दिया गया। ऐसी घटनाओं के बाद टंटनगर ब्लॉक के राशन की दुकान पर लगे इस पोस्टर से असंवेदनशीलता साफ देखी जा सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App