ताज़ा खबर
 

Jhansi Encounter: पुष्पेंद्र की दादी की मौत, परिजन बोले- नहीं सह सकीं पोते के एनकाउंटर का सदमा

पुष्पेंद्र के बड़े भाई रवींद्र यादव ने कहा कि यदि हमें न्याय नहीं मिलेगा तो हमारी पूरी फैमिली जान दे देगी। यदि सरकार हमें न्याय नहीं दे सकती तो पुलिस एनकाउंटर में हमारी पूरी फैमिली को मार दे।

Author झांसी | Published on: October 14, 2019 8:49 PM
Pushpender Yadav, photo source- indian express

Jhansi Encounter: झांसी में कुछ हफ्ते पहले 28 साल के पुष्पेंद्र यादव की कथित पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गई थी। इस घटना के कुछ हफ्ते बाद ही रविवार (13 अक्टूबर) को उनकी 85 वर्षीय दादी की भी मौत हो गई। पुष्पेंद्र के परिजनों का आरोप है कि वह अपने पोते के मरने की खबर सहन नहीं कर पाईं। उन्होंने कई दिनों से खाना भी बंद कर दिया था। पुष्पेन्द्र के पिता हरीश चंद्र यादव ने बताया कि कुछ महीने पहले मेरी मां का पैर टूट गया था, जिसकी वजह से उनकी तबीयत कुछ दिनों से ठीक नहीं चल थी। इस बीच जब उन्होंने अपने पोते की मौत की खबर सुनी तो उन्हें सदमा लग गया।

पुष्पेंद्र के मरने की खबर सुन छोड़ दिया था खाना-पीना: पुष्पेंद्र के पिता ने कहा कि शुरुआत के कुछ दिनों तक हमने उन्हें पुष्पेंद्र के मरने के बारे में नहीं बताया था।हमें पता था कि वह इस बात को सहन नहीं कर पाएंगी। वह हमेशा पूछती रहती थीं कि पुष्पेंद्र कहां है? उन्हें 4 दिन पहले ही पुष्पेंद्र की मौत की जानकारी हुई थी। इसके बाद उन्होंने खाना और दवाइयां लेना बंद कर दिया था। वह काफी समय तक जीवित रह सकती थीं, लेकिन एक गलत एनकाउंटर ने मेरी पूरी फैमिली को बर्बाद कर दिया।

National Hindi News, 12 October 2019 Top Headlines Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

न्याय नहीं दे सकते तो मेरी फैमिली को मार दें: पुष्पेंद्र के बड़े भाई रवींद्र यादव ने कहा कि यदि हमें न्याय नहीं मिलेगा तो हमारी पूरी फैमिली जान दे देगी। यदि सरकार हमें न्याय नहीं दे सकती तो पुलिस एनकाउंटर में हमारी पूरी फैमिली को मार दे। आज हमारी दादी मां की मौत हुई है। जल्द ही, मेरी पूरी फैमिली मौत को गले लगा लेगी।

पुलिस मुठभेड़ में हुुुई थी मौत: गौरतलब है कि 6 अक्टूबर को पुष्पेंद्र एक कथित पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। पुलिस के मुताबिक, मोठ थाना प्रभारी धर्मेंद्र सिंह चौहान ने पिछले महीने पुष्पेंद्र का ट्रक जब्त कर लिया था। आरोप है कि इसके बाद पुष्पेंद्र ने पिछले महीने एसएचओ धर्मेंद्र सिंह चौहान पर कथित तौर पर फायरिंग कर दी थी। बता दें कि पुष्पेंद्र के परिजनों ने एसएचओ चौहान के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज करने की मांग करते हुए शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बबीता फोगाट के चुनावी ‘दंगल’ में उतरने से दादरी सीट पर लड़ाई दिलचस्प, मुकाबला हुआ त्रिकोणा