ताज़ा खबर
 

शरद यादव को राज्य सभा से निकालिए- जेडीयू नेताओं ने वेंकैया नायडू को दी अर्जी

शरद यादव के सपोर्ट में पार्टी के सिर्फ एक नेता खड़े हुए हैं। उनका कार्यकाल मार्च में खत्म हो जाएगा।

शरद यादव जदयू के फैसले के खिलाफ जाकर लालू की रैली में शामिल हुए थे।

जनता दल युनाइटेड (जदयू) से शरद यादव को निकालने की कोशिशें तेज हो गई हैं। जदयू नेता राम चंद्र प्रसाद सिंह और संजय झा ने उप राष्ट्रपति और राज्य सभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू के पास अर्जी लगाई है कि शरद यादव की राज्य सभा की सदस्यता को खत्म कर दिया जाए। शरद यादव को पिछले साल ही राज्यसभा के लिए चुना गया था फिलहाल उनका कार्यकाल 2022 तक है। अगर उनको निकाल भी दिया जाता है तो अगर लालू यादव उनको सपोर्ट कर देंगे तो वह फिर से राज्य सभा में आ सकते हैं।

जदयू की अर्जी में लिखा है कि पार्टी के मना करने के बावजूद शरद यादव ने लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी द्वारा रखी गई रैली में हिस्सा लिया था। जबकि जदयू के महासचिव के सी त्यागी ने लिखित रूप में पहले ही बता दिया था कि अगर शरद रैली में जाते हैं तो इसका मतलब होगा कि उन्होंने खुद से जदयू छोड़ दी है। पत्र में आगे लिखा गया है कि शरद यादव खुले तौर पर भाजपा से लिए गए समर्थन के पार्टी के फैसले की आलोचना करते रहे हैं। और पार्टी ने उनको अपने विचार रखने के लिए नेशनल काउंसिल की बैठक में बुलाया भी था लेकिन वह ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों में लगे रहे।

पत्र में लिखा गया है कि जब शरद ने आरजेडी की रैली में हिस्सा लेकर खुद से जदयू छोड़ दी है तो फिर उनको संविधान के शेड्यूल 10 के मुताबिक हटा देना चाहिए। मुफ्ती मोहम्मद सईद और उपेंद्र कुशवाह का उदाहरण दिया गया है दोनों को भी इसी वजह से अयोग्य घोषित किया गया था।

सिंह को शरद यादव के बाद राज्य सभा में पार्टी नेता बनाया गया था। शरद यादव के सपोर्ट में पार्टी के सिर्फ एक नेता अली अनवर (राज्य सभा सांसद) खड़े हुए हैं। उनका कार्यकाल मार्च में खत्म हो जाएगा।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App