ताज़ा खबर
 

बिहार में बेखौफ बदमाश, जदयू नेता की गर्भवती बेटी की गोली मारकर हत्या

गोली लगने के बाद उसे इलाज के लिए मायागंज अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि गोली काजल के पेट में लगी थी।  गोली लगने के कारण काजल के गर्भ में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गयी।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः freepik)

बिहार में एक बार फिर बदमाशों के हौसले बुलंद है। भागलपुर जिले के बबरगंज थाना क्षेत्र के मोगलपुरा में सोमवार को बदमाशों ने जदयू नेता मोहम्मद आरिफ की आठ महीने की गर्भवती बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी। जदयू नेता मोहम्मद आरिफ की बेटी का नाम काजल बताया जा रहा है। बदमाशों ने घर में घुसकर वारदात को अंजाम दिया। गोली लगने के बाद उसे इलाज के लिए मायागंज ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि गोली काजल के पेट में लगी थी। गोली लगने के कारण काजल के गर्भ में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गयी। बात दें कि काजल की शादी पिछले साल नवंबर में छोटू कुरैशी नाम के व्यक्ति के साथ हुई थी। काजल के पिता मो. आरिफ खान जदयू के नगर महासचिव हैं। वे जमीन का भी कारोबार करते हैं। छह बदमाशों पर हत्या का आरोप लगाया गया है। इनमें से एक को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है।

वहीं जदयू नेता आरिफ ने टींकू मियां पर हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि सोमवार की सुबह करीब 11 बजे टींकू मियां के भाई इम्तियाज की पत्नी जेबा, इम्तियाज का भाई इंतेसार, बादशाह, रहमत कुरेशी, राहिद और जिद्दू हथियार के साथ पहुंचे थे। आरिफ का कहना है कि जेबा, इंतेसार और बादशाह ने फायरिंग शुरू कर दी जबकि बाकी लोग हथियार लिये वहीं खड़े थे और फायरिंग करने को बोल रहे थे। इसके साथ ही उनका कहना है कि ये लोग उन्हें मारने आए थे,लेकिन घर में अंदर होने के कारण उन्हें नहीं मार सके।

उनका कहना है कि इन लोगों ने दस राउंड फायरिंग की। जिसमें एक गोली काजल को लग गई। इस घटना के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं वहां मौजूद चश्मदीदों ने इम्तियाज की पत्नी जेबा को भी गोली चलाते हुए देखा था।

जदयू नेता आरिफ ने यह भी बताया कि शनिवार को उनके बेटे समीर को बदमाशों ने चार घंटे तक बंधक बनाकर रखा था और जान से मारने की धमकी दी थी। आरिफ का कहना है कि रविवार की रात बादशाह ने कुछ लोगों को भेजकर उनके बेटे समीर को बुलवाया था। सोमवार सुबह आरिफ की पत्नी और आरिफ ने बादशाह से पूछा कि वह उनके बेटे को क्यों बुलाता है। इसी पर वह नाराज हो गया और बोला कि पांच मिनट में आ रहे हैं। उसके बाद वे सभी आये और घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे।

इस वारदात को अंजाम देने के बाद फरार आरोपी टींकू मियां ने जदयू नेता को फोन कर जान से मारने की धमकी दी है। उसने फोन कर आरिफ को कहा है कि पुलिस के लिए मुखबिरी करते हो, अंजाम देख लो, बेटी को मार दिए हैं, अब तुम्हें और तुम्हारे पूरे परिवार को गोली मार देंगे. ये घटना तब हुई जब आरिफ अस्पताल में थे। इस दौरान वहां मौजूद पुलिसवालों ने भी उससे बात की।

बताते चलें कि टींकू मियां पहले से ही एक फरार आरोपी है। पुलिस ने टींकू पर 25000 रूपये का इनाम भी घोषित कर रखा है। वहीं इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपी टींकू मियां के घर पर छापेमारी की जहां पुलिस को घर के सीसीटीवी कैमरे से कई अहम सुराग मिले हैं। पुलिस ने इन फुटेज के आधार पर छानबीन शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस ने टींकू मियां के भाई इम्तियाज और इंतेसार को गिरफ्तार कर लिया है।

Next Stories
1 केरल में कोरोना के बीच बकरीदः SC की विजयन सरकार को फटकार- आप लोगों की जिंदगी से नहीं कर सकते हैं खिलवाड़
2 7th Pay Commission लागू करे सरकार, नहीं तो करेंगे आंदोलन- इन कर्मचारियों ने चेताया
3 नीतीश के ‘जनता-दरबार’ में निकले लोगों के आंसू, बोले- बहुत दूर से आए हैं: VIDEO
ये पढ़ा क्या?
X