ताज़ा खबर
 

‘सेवादारों’ की रिहाई पर जदयू ने कसा तंज, ‘लालू जी, अब किससे मालिश करवाइएगा’

जदयू के प्रवक्ता और विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने कहा कि इस मामले के सच साबित होने के बाद यह तय हो गया कि राजद के अध्यक्ष ने जेल में भी फर्जीवाड़ा किया।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव। (File Photo)

चारा घोटाले के एक मामले में रांची की जेल में बंद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद की सेवा के लिए फर्जी मामले बनाकर जेल गए दो ‘सेवादारों’ के जेल से रिहा होने के बाद बिहार में सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड ने लालू प्रसाद पर तंज कसा है। जदयू के प्रवक्ता और विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने गुरुवार को कहा कि इस मामले के सच साबित होने के बाद यह तय हो गया कि राजद के अध्यक्ष ने जेल में भी फर्जीवाड़ा किया। फर्जी मामले बनवाकर दो कार्यकर्ताओं को अपनी सेवा करने के लिए जेल पहुंचाया। उन्होंने लालू पर तंज कसते हुए कहा, “अब किससे मालिश करवाइएगा। फर्जीवाड़ा करना आपका कृत्य रहा है। अपने कार्यकर्ताओं से फर्जीवाड़ा कर उनकी जमीन लिखवाना और फर्जी मामला दर्ज करवाकर अपने स्वार्थ के लिए जेल पहुंचाना आपके सामाजिक न्याय के ढकोसला नीति को प्रदर्शित करता है।”

नीरज कुमार ने कहा कि लालू प्रसाद ने फर्जी मामले में अपने दो कर्यकर्ताओं को सेवादार के रूप में जेल के भीतर कराया था। लालू प्रसाद की राजनीति ही यही है। उल्लेखनीय है कि फर्जी मामले में जेल पहुंचे दो कार्यकर्ताओं मदन यादव और लक्ष्मण का मामला जब तूल पकड़ा तब पुलिस ने इसकी जांच कराई और जांच में मामला सत्य पाया गया। मदन और लक्ष्मण बुधवार को अदालत के आदेश के बाद जेल से रिहा कर दिए गए।

नीरज ने बुधवार को चारा घोटाला के एक अन्य मामले में अदालत में लालू के कम सजा की गुहार पर कटाक्ष करते हुए कहा, “लालू जी पाप व्यक्ति को कभी नहीं छोड़ता। जेल में आप अपने पापों का प्रायश्चित करिए। आपके पापों के हिसाब से ही सजा सुनाई गई है। अदालत में फर्जीवाड़ा नहीं होता।”

गौरतलब है कि सुमित यादव नाम के एक व्‍यक्ति ने मदन और लक्ष्मण के खिलाफ मारपीट और दस हजार रुपए छीनने का मामला दर्ज कराया था। यह मामला रांची स्थित डोरंडा थाना पहुंच गया था, लेकिन वहां के थाना प्रभारी ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया था। इस पर सुमित ने एक दूसरे थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसके बाद लक्ष्मण और मदन ने कोर्ट में सरेंडर किया जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App