ताज़ा खबर
 

जयललिता के निधन पर अपोलो अस्‍पताल ने कहा- हमने उन्‍हें बचाने के लिए हरसंभव क्लिनिकल प्रयास किया

तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जे जयललिता को पांच दिसंबर की रात में निधन हो गया। वे 74 दिन से अपोलो अस्‍पताल में भर्ती थीं।

Author December 6, 2016 11:23 AM
तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जे जयललिता को पांच दिसंबर की रात में निधन हो गया। (Photo:AP)

तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जे जयललिता का पांच दिसंबर की रात में निधन हो गया। वे 74 दिन से अपोलो अस्‍पताल में भर्ती थीं। अपोलो अस्‍पताल ने प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि रविवार दोपहर को उन्‍हें कार्डिएक अरेस्‍ट हुआ। इसके बाद डॉक्‍टर्स ने उन्‍हें बचाने की पूरी मेहनत की लेकिन कामयाबी नहीं मिली और सोमवार(पांच दिसंबर) को रात साढ़े 11 बजे उनका निधन हो गया। अपोलो अस्पताल ने एक बयान में कहा, ‘‘अवर्णननीय दुख के साथ हम अपनी प्रतिष्ठित सम्मानीय तमिलनाडु की मुख्यमंत्री पुरात्ची थालाइवी अम्मा के रात ग्यारह बजकर 30 मिनट पर दुखद निधन की घोषणा करते हैं। हमारी सम्मानित मुख्यमंत्री सेल्वी जे जयललिता को 22 सितंबर को बुखार और निर्जलीकरण की शिकायतों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। माननीय मुख्यमंत्री पर क्रिटिकल केयर यूनिट में मल्टी डिसिप्लिनरी केयर का असर हुआ और वह काफी हद तक उबर गई थीं और मुंह से खाना लेने में समक्ष हो गई थीं।’’

विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘उस आधार पर माननीय मुख्यमंत्री को एडवांस्ड क्रिटिकल केयर यूनिट से हाई डिपेंडेंसी यूनिट में स्थानांतरित किया गया, जहां हमारे विशेषज्ञ चिकित्सकों की करीबी निगरानी में उनके स्वास्थ्य और महत्वपूर्ण अंगों के कामकाज में सुधार जारी था।’ विज्ञप्ति में कहा गया है कि दुर्भाग्य से मुख्यमंत्री को चार दिसंबर की शाम को गंभीर दिल का दौरा पड़ा, जब उनके कमरे में इंटेसिविस्ट थे। मुख्यमंत्री को तत्काल एक घंटे के भीतर सीपीआर और ईसीएमओ मदद प्रदान किया गया। ईसीएमओ फिलहाल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे आधुनिक उपचार उपलब्ध है। उन्हें जीवित रखने के लिए हर संभव क्लिनिकल प्रयास किये गए। हालांकि, हमारे सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद मुख्यमंत्री की स्थिति ने उन्हें उबरने से अक्षम बना दिया और उनका सोमवार( 5 दिसंबर) की रात साढ़े 11 बजे निधन हो गया।

जयललिता के देहांत की खबर से पूरे राज्य में शोक की खबर फैल गई। वहीं, ओ पनीरसेल्वम को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया है। पनीरसेल्वम ने आधी रात मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। तमिलनाडु सरकार ने मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के मद्देनजर मंगलवार से सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। मुख्य सचिव पी राम मोहन राव ने एक अधिसूचना में कहा कि इस अवधि में सभी सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। इस दौरान कोई आधिकारिक मनोरंजन भी नहीं होगा। सरकार ने राज्य में सभी शिक्षण संस्थानों में तीन दिवसीय अवकाश की भी घोषणा की है। पड़ोस के केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी ने भी जयललिता के सम्मान में मंगलवार को सभी सरकारी कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में एक दिन की छुट्टी की घोषणा की है।

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता का निधन, सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App