ताज़ा खबर
 

उमा भारती बोलीं- पाकिस्तान से युद्ध में नेहरू ने RSS से मांगी थी मदद, भागवत के बयान पर साधी चुप्पी

पिछले दिनों संघ प्रमुख ने विवादित बयान देते हुए कहा कि सेना को युद्ध के हालात में तैयार होने के लिए छह से सात महीने लगा सकते हैं, लेकिन संघ के कार्यकर्ता दो से तीन दिन में ही तैयार हो जाएंगे। भागवत के इस बयान के बाद विपक्षी दल कांग्रेस ने जमकर हमला बोला।
केंद्रीय मंत्री उमा भारती। (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने दावा किया है कि आजादी के बाद प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर पर हमला कर दिया था। दरअसल, उमा भारती का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब पूर्व में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने सेना पर विवादित टिप्पणी की थी। हालांकि, पत्रकारों से बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री ने संघ प्रमुख के बयान पर सीधे टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि मुल्क की आजादी के बाद कश्मीर के राजा हरि सिंह संधि पर साइन नहीं कर रहे थे और शेख अब्दुल्ला ने उन पर दबाव डाला था। इस वक्त नेहरू दुविधा में थे। तभी पाकिस्तान ने अचानक जम्मू-कश्मीर में हमला कर दिया। पाकिस्तानी सैनिक उधमपुर की तरफ बढ़ने लगे। उमा भारती ने आगे कहा, “दुश्मनों को जवाब देने के लिए तब सेना के पास हाईटेक उपकरण नहीं थे। तब पीएम नेहरू ने गुरु गोलवलकर (तब के संघ प्रमुख) से मदद मांगी। इसके बाद स्वयंसेवक मदद के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे।”

बता दें कि पिछले दिनों संघ प्रमुख ने विवादित बयान देते हुए कहा कि सेना को युद्ध के हालात में तैयार होने के लिए छह से सात महीने लगा सकते हैं, लेकिन संघ के कार्यकर्ता दो से तीन दिन में ही तैयार हो जाएंगे। भागवत के इस बयान के बाद विपक्षी दल कांग्रेस ने जमकर हमला बोला। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने संघ प्रमुख के बयान पर विरोध जताते हुए कहा कि उन्हें देश की सेना से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने पीएम मोदी से भी स्पष्ट करने को कहा कि क्या वह देश की सीमाओं की जिम्मेदारी संघ को देने के बारे में सोच रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.