ताज़ा खबर
 

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन: रेल-सड़क यातायात बाधित, रोहतक में धारा 144 लागू

जाट प्रदर्शनकारियों ने आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों (ईबीसी) के लिए आरक्षण बढ़ाने से जुड़ी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की पेशकश खारिज कर दी है।

Author चंडीगढ़ | February 19, 2016 9:26 AM
रोहतक क्षेत्र के जाट आंदोलन के केंद्र के रूप में उभरने के कारण पूरे जिले में गुरुवार को तत्काल प्रभाव से धारा 144 लागू कर दी गई है। (एक्सप्रेस फोटो)

जाट आंदोलन हरियाणा के कई क्षेत्रों में गुरुवार को फैल गया। रेल और सड़क यातायात बाधित होने के कारण दूध, फल-सब्जी और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बाधित हो रही है। हरियाणा रोडवेज ने कई मार्गों पर बस सेवा रोक दी है। प्रभावित क्षेत्रों के कई निजी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। पूरे रोहतक जिले में धारा 144 लागू करके पांच या उससे ज्यादा लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगा दी गई है। जाट प्रदर्शनकारियों ने आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों (ईबीसी) के लिए आरक्षण बढ़ाने से जुड़ी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की पेशकश खारिज कर दी है। प्रदर्शनकारी ओबीसी श्रेणी के तहत सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण की मांग पर अड़े हैं। प्रदर्शनकारियों ने धमकी दी है कि शुक्रवार को आंदोलन पूरे आंदोलन में फैलाया जाएगा।

रोहतक क्षेत्र के जाट आंदोलन के केंद्र के रूप में उभरने के कारण पूरे जिले में गुरुवार को तत्काल प्रभाव से धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके तहत पूरे रोहतक जिले में पांच या उससे ज्यादा लोगों के एकत्र होने पर रोक लगा दी गई है। रोहतक जिले में अर्द्धसैनिक बलों को तैयार रखा गया है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में वकील, छात्र और महिलाएं भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गर्इं। जाट आंदोलन गुरुवार को फरीदाबाद, कैथल और करनाल में फैल गया। रोहतक से लेकर दिल्ली तक सड़कों पर नाकेबंदी जारी रही। सोनीपत, झज्जर तक जाने वाली सड़कें बंद रहीं। हिसार, जींद और भिवानी जाने वाली सड़कें प्रभावित हुर्इं। बहादुरगढ़ में बहादुरगढ़-दिल्ली सड़क बंद रही जिससे दिल्ली और हरियाणा के बीच यातायात प्रभावित हुआ है। प्रदर्शनकारियों ने सहारनपुर-कुरुक्षेत्र सड़क को भी जाम कर दिया है। आंदोलन के कारण रोहतक-दिल्ली खंड पर कई ट्रेनें रद्द कर दी गर्इं या उन्हें वैकल्पिक रास्तों से मोड़ दिया गया।

आंदोलन प्रभावित इलाकों में निजी स्कूलों के प्रबंधन ने छुट्टियां घोषित कर दी हैं। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय ने अपनी कुछ परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। ये परीक्षाएं 17 से 22 फरवरी के बीच होने वाली थीं। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के जाट छात्रों के समूह ने आरक्षण मुद्दे को लेकर परिसर में प्रदर्शन किया। बाद में इन छात्रों ने क्षेत्र में जुलूस निकाला। फिर कुरुक्षेत्र-पेहोवा सड़क पर ‘धरने’ पर बैठ गए और वाहनों की आवाजाही रोक दी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ बातचीत करने के एक दिन बाद आल इंडिया जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा, ‘हम पेशकश ठुकराते हैं, यह तकनीकी रूप से व्यावहारिक नहीं है। यह गैरकानूनी है और इसका कार्यान्वयन नहीं किया जा सकता है। हमें दोबारा बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता, हम कई सालों से अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। आंदोलन गुरुवार को कैथल, फरीदाबाद, करनाल, पलवल में फैल गया और शुक्रवार तक यह पूरे हरियाणा में फैल जाएगा।’ जाट एवं खाप नेताओं ने खट्टर और उनके कुछ मंत्रियों के साथ बुधवार को यहां चार घंटे की बैठक की थी जिसके दौरान मुख्यमंत्री ने ईबीसी के तहत आरक्षण कोटा बढ़ाने और वार्षिक आय सीमा 2.5 लाख से छह लाख रुपए बढ़ाने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने राज्य में आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षण कोटा 10 से बढ़ा कर 20 प्रतिशत करने की घोषणा की थी। खट्टर ने बुधवार को घोषणा की थी कि मुख्य सचिव के नेतृत्व में विशेष पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण के सभी पहलुओं का अध्ययन करने के लिए गठित समिति अगले महीने राज्य विधानसभा के बजट सत्र से पहले अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। समिति सभी सुझावों पर विचार करेगी जिसमें इस संबंध में एक उचित विधेयक लाना शामिल है। हालांकि जाट समुदाय अति पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणी के तहत आरक्षण की अपनी मांग पर अड़ा रहा। इस बीच, मुख्यमंत्री खट्टर ने फिर प्रदर्शनकारियों से आंदोलन समाप्त करने की अपील की है क्योंकि इससे आम लोगों को काफी असुविधा हो रही है।
* पूरे रोहतक जिले में धारा 144 लागू, पांच या उससे अधिक लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगाई गई

* हरियाणा रोडवेज ने कई रुटों पर बस सेवा बंद की, रोहतक-दिल्ली रुट पर रेल सेवा प्रभावित

* दूध, फल-सब्जी व आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बाधित, पूरे हरियाणा में आज आंदोलन फैलाने की धमकी दी गई

* बहादुरगढ़ में सड़क बंद होने के कारण दिल्ली व हरियाणा के बीच यातायात प्रभावित, सहारनपुर-कुरुक्षेत्र सड़क भी बंद

* जाट प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री खट्टर की पेशकश खारिज की, जाटों के लिए ओबीसी आरक्षण की मांग पर अड़े

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App