ताज़ा खबर
 

जापान के प्रधानमंत्री और अखिलेश की मुलाकात कल, उप्र में निवेश को बढ़ावा देने पर होगी बात

जापान के प्रधानमंत्री शिनजो एब के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में अधिक निवेश की बाबत लंबी वार्ता करने जा रहे हैं..

Author लखनऊ | December 10, 2015 23:12 pm
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव। (फाइल फोटो)

जापान के प्रधानमंत्री शिनजो एब के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में अधिक निवेश की बाबत लंबी वार्ता करने जा रहे हैं। 12 दिसंबर को जापानी प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन के दौरान दोनों नेताओं के बीच उत्तर प्रदेश में निवेश पर विस्तार से चर्चा होगी। इस दौरान सौर्य ऊर्जा, औद्योगिक विकास, कुटीर उद्योग के विकास समेत कई मसलों पर अखिलेश यादव शिनजो का ध्यान आकृष्ट करेंगे।

सरकार के उच्च पदस्त सूत्रों का कहना है कि उत्तर प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जापानी प्रधानमंत्री से लंबी वार्ता करेंगे। इस संबंध में प्रदेश के प्रमुख विभागों के उच्चाधिकारियों ने अभी से वाराणसी में डेरा जमा लिया है। सूत्र बताते हैं कि मुख्य सचिव की अगुआई में इन अधिकारियों को पहले ही निर्देश दिए जा चुके हैं कि वे अपने विभागों की एक कार्य योजना बनाकर उसमें संभावित निवेश के बिंदु तैयार कर लें। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि जपान को उत्तर प्रदेश में अधिक निवेश के लिए राजी किया जा सके।

सरकारी प्रवक्ता का कहना है कि फिलहाल उत्तर प्रदेश में तकनीक के क्षेत्र में जापानी कंपनी काम कर रही है। जापानी कंपनी तोशीबा ने ऊर्जा के क्षेत्र में प्रदेश सरकार के साथ मिलकर पावर प्लांट पर काम किया है। एक अन्य जापानी कंपनी जाइका ने आगरा में गंगा का पानी पहुंचाने के लिए तीन हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट पर काम करने पर सहमति जता दी है। इस काम को बहुत जल्द अंजाम तक पहुंचने की बात कही जा रही है। इसके अलावा गंगा की सफाई के लिए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट पर सात हजार करोड़ रुपए के खर्च पर जापान ने हामी भर दी है। इस काम को शुरू भी किया जा चुका है।

सूत्र बताते हैं कि ग्रेटर नोएडा में उद्योग लगाने के लिए अखिलेश यादव जापानी प्रधानमंत्री को आमंत्रित करेंगे। इस बात पर सरकार ने एक विस्तृत रूपरेखा तैयार कर ली है। दरअसल, प्रदेश सरकार जापानी प्रधानमंत्री की वाराणसी यात्रा को एक अवसर के रूप में देख रही है। वह किसी भी हाल में हाथ आए इस अवसर को भुनाने की पुरजोर कोशिश में है। सूत्र बताते हैं कि निर्माण से लेकर प्रदेश के पारंपरिक उद्योग के तौर पर अंतर्राष्ट्रीय पहचान बना चुके कढ़ाई, कालीन निर्माण, चमड़ा उद्योग, हथकरघा, चीनी मिट्टी के पात्र और सूती कपड़ों के विकास में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जापानी प्रधानमंत्री से निवेश के लिए चर्चा करेंगे। इसके अलावा बुंदेलखंड समेत प्रदेश भर में सौर्य ऊर्जा से बिजली पैदा करने पर भी दोनों ही नेताओं के बीच बात होगी। इस बाबत प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन कहते हैं कि जापान के प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री प्रदेश में निवेश पर लंबी चर्चा करेंगे। इस चर्चा में खास तौर पर उन स्थानों का जिक्र किया गया है जहां निवेश की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों नेताओं के बीच होने वाली इस मुलाकात से प्रदेश में निवेश के नए अवसर उत्पन्न होंगे जिसका सीधा सकारात्मक असर उत्तर प्रदेश के विकास पर पड़ना तय है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App