ताज़ा खबर
 

मर्डर के आरोप में लंबे समय तक जेल में रहने वाले सांसद ने कहा- न कभी ‘जन गण मन’ गाया है और न कभी गाऊंगा

राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मधेपुरा से जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को हराकर सांसद बने हैं।

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव अपनी सांसद पत्नी रंजीन रंजन के साथ। (फाइल फोटो- PTI)

जनाधिकार पार्टी के अध्यक्ष और बिहार के मधेपुरा से लोक सभा सांसद पप्पू यादव अक्सर अपने बयानों से मीडिया में बने रहते हैं। इस बार उन्होंने राजधानी पटना से सटे हाजीपुर में खुले मंच से कहा कि उन्होंने न कभी राष्ट्र गान गाया है और न कभी गाएंगे। सांसद ने कहा कि ‘जन गण मन अधिनायक जय हे, भारत भाग्य विधाता’ यह जॉर्ज पंचम को खुश करने के लिए गाया गया था। लिहाजा, यह जानने के बाद भी कोई दूसरा व्यक्ति हमारे देश का भाग्य विधाता कैसे हो सकता है और हम इसे कैसे गा सकते हैं।

हाजीपुर के चकमकरण गांव में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान पप्पू यादव नए अंदाज में दिखे। उन्होंने भोजपुरी गाना गाकर भी लोगों का मनोरंजन किया। उन्होंने सार्वजनिक मंच से यह भी कहा कि आज तक उन्होंने जन गण मन को नहीं गाया है और न आगे कभी गाऊंगा। सांसद ने कहा कि इसे गाने की बाध्यता को लेकर संविधान भी उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। यह पहला मौका नहीं है जब पप्पू यादव का बड़ बोलापन सामने आया हो। वह कई बार कई नेताओं पर भी उल्टे-पुल्टे बयान दे चुके हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41498 MRP ₹ 50810 -18%
    ₹6000 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹446 Cashback

लालू यादव और उनके परिवार पर बयानों की वजह से ही पप्पू यादव को राष्ट्रीय जनता दल से बाहर का रास्ता दिखाया गया था। राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मधेपुरा से जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को हराकर सांसद बने हैं। इससे पहले पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में भी कई बातें कही थीं और उन्हें चरित्रहीन तक करार दिया था। पप्पू से पहले जेडीयू के एक नेता ने भी राष्ट्र गान को लेकर सवाल उठाया था। उसके बाद पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था।

कुछ दिनों पहले पहले पप्पू यादव ने कहा था कि सच में अगर नीतीश कुमार बेनामी संपत्ति को बाहर लाना चाहते हैं तो पहले आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार सहित अपने पार्टी के विधायकों और सांसदों की संपत्ति की जांच कराएं। इसके बाद अधिकारियों की संपति की भी जांच कराएं।

वीडियो देखिए- पप्‍पू यादव ने किया नीतीश कुमार का चरित्रहनन, कहा- कैशलेस का समर्थन करते हैं और खुद पैसे देकर मनसुख, नयनसुख लेते हैं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App