ताज़ा खबर
 

जम्मू के मंदिर में तोड़फोड़: लोगों का आरोप- दूसरे धर्म के दो पुलिसवाले आरोपी को बचा रहे हैं

लोगों का आरोप है कि पुलिसवालों ने उनको गाली देकर थाने से भगा भी दिया था। ये लोग पुलिसवालों को सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं।

June 15, 2016 1:38 PM
विरोध कर रहे लोगों ने हिंसक होकर मंगलवार को बसों में भी आग लगा दी थी। (एक्सप्रेस फोटो)

जम्मू शहर के एक मंदिर में एक युवक द्वारा तोड़फोड़ करने के बाद उसका विरोध कर रही भीड़ हिंसक हो गई। उन्होंने पुलिस चौकी पर हमला किया और कुछ वाहनों में आग लगा दी। इसके बाद बुधवार (15 जून) को शहर में इंटरनेट सर्विस पर पाबंदी लगा दी गई। लगी पाबंदी की पुख्ता जानकारी BSNL के एक अफसर ने इंडियन एक्स्प्रेस को दी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि व्यक्ति शाम में जानीपुर के शंभू मंदिर में घुसा और उसने कुछ चीजों और खिड़की के शीशों को तोड़ दिया। बताया गया कि घटना के बाद बड़ी तादाद में लोग सड़कों पर उतर आए और उन्होंने विरोध प्रदर्शन करते हुए आरोपी को पकड़ने की मांग की।

जिस युवक ने मंदिर में तोड़फोड़ की थी उसका नाम यासीर अलफाज बताया गया है। वह डूडा का रहने वाला है। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।फिलहाल स्थिति काबू में बताई जा रही है। इलाके के दुकानदार अब अपनी दुकान खोल रहे हैं। ट्रेफिक की आवाजाही भी शुरू कर दी गई है।

हंगामा कर रहे कुछ लोग अभी भी शांत नहीं हुए हैं। उनका आरोप है कि दूसरे समुदाय के दो पुलिसवाले अलफाज को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। लोगों का आरोप है कि उन पुलिसवालों ने उनको गाली देकर थाने से भगा भी दिया था। ये लोग पुलिसवालों को सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं।

Next Stories
1 अमर सिंह बोले- अखिलेश यादव पर ‘अंकल सिंड्रोम’ हावी नहीं होने दूंगा
2 बागियों को सबक सिखाने में लगे सीएम हरीश रावत
3 सुरेश प्रभु बोले- ट्रेनों की देरी को कम करने का प्रयास करें
ये पढ़ा क्या?
X