ताज़ा खबर
 

क्या आप जानते हैं दुनिया में अपनी तरह का अकेला ‘फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस’ भारत में है?

पहले इस पोस्ट ऑफिस का नाम "नेहरू पार्क पोस्ट ऑफिस" था। लेकिन 2011 में इसका नाम "फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस" कर दिया गया।

जम्मू-कश्मीर की डल झील में स्थित तैरता डाकघर। (फाइल फोटो)

दुनिया की सबसे बड़ी डाक सेवा भारत में है। भारत में 1,55,015 पोस्ट ऑफिस (डाकघर) हैं। औसतन हर एक भारतीय पोस्ट ऑफिस सात हजार से ज्यादा लोगों को सेवा देता है। लेकिन कम ही लोगों को पता होगा कि भारत में एक ऐसा पोस्ट ऑफिस भी है जो पूरी दुनिया में शायद अपनी तरह का अकेला है। धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर की मशहूर डल झील में स्थित इस “फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस” में वो सारे कामकाज होते हैं जो दूसरे सामान्य पोस्ट ऑफिस में होते हैं। हालांकि इस पोस्ट ऑफिस में कुछ चीजें दूसरे डाकघरों से अलग भी हैं। मसलन, इस डाकखाने की मुहर पर तारीख और पते के साथ शिकारी खे रहे नाविक की तस्वीर बनी होती है। ये पोस्ट है तो अंग्रजों के जमाने का लेकिन इसे नया नाम (फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस) साल 2011 में मिला।

पहले इस पोस्ट ऑफिस का नाम “नेहरू पार्क पोस्ट ऑफिस” था। लेकिन 2011 में तत्कालीन चीफ पोस्ट मास्टर जान सैम्युअल ने इसका नाम “फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस” रखवाया। अगस्त, 2011 में राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और तत्कालीन केंद्रीय संचार और आईटी मंत्री सचिन पायलट ने इसका उद्घाटन किया। ये पोस्ट ऑफिस जिस हाउसबोट में है उसमें दो कमरे हैं। एक कमरा पोस्ट ऑफिस के तौर पर काम करता है और दूसरा कमरा संग्रहालय के तौर पर। संग्रहालय में भारतीय डाक के इतिहास से जुड़ी सामग्री प्रदर्शन के लिए रखी गई है।

HOT DEALS
  • ARYA Z4 SSP5, 8 GB (Gold)
    ₹ 3799 MRP ₹ 5699 -33%
    ₹380 Cashback
  • Apple iPhone 8 Plus 64 GB Space Grey
    ₹ 70944 MRP ₹ 77560 -9%
    ₹7500 Cashback

वीडियो: दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं-

आप ये न समझिएगा कि ये “तैरता डाकघर” केवल सजावट की चीज है। डल झील के हाउसबोट में रुकने वाले सैलानी और वहां घूमने वाले पर्यटक अपने मित्रों-परिजनों को डाक भेजने के लिए इस्तेमाल करते हैं। स्थानीय नागरिक इस डाकघर की बचत योजनाओं का भी लाभ उठाते हैं और अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई इसमें जमा करते हैं। डल झील इलाके में करीब 50 हजार लोग रहते होंगे।

आम तौर पर इस पोस्ट ऑफिस को कामकाज में कोई दिक्कत नहीं आती लेकिन साल 2014 में आई बाढ़ में ये पोस्ट ऑफिस भी संकट में घिर गया था। राहत एवं बचाव दल के जवानों ने इस पोस्ट ऑफिस को बाढ़ के दौरान एक जगह अंकुश लगाकर बांधना पड़ा था। जब बाढ़ थम गई तो इसे दोबारा डल झील में वापस लाया गया।

वीडियो: अब एटीएम से मिलेंगे सोने के सिक्के- 

Read Also: दिवाली 2016: धनतेरस पर अपनों की समृद्धि के लिए भेज सकते हैं ये एसएमएस या व्हाट्सएप संदेश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App