ताज़ा खबर
 

श्रीनगर: स्कूल में छिपे आतंकी सेना ने मार गिराए, सामने आई तस्वीरें

पुलिस का कहना है कि हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि स्कूल की इमारत सुरक्षित रहे, क्योंकि दुश्मन का नापाक मंसूबा यह है कि स्कूली इमारतों को नष्ट कर दिया जाए और बच्चों के पास पढ़ाई के लिए कुछ नहीं रहे।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि कश्मीर में सेना घृणित युद्ध का सामना कर रही है। (Express Photo)

श्रीनगर में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों की मुठभेड़ खत्म, दोनों आतंकवादी मारे गए, थलसेना के दो जवान जख्मी श्रीनगर, 25 जून सुरक्षा बलों ने श्रीनगर के बाहरी इलाके में एक स्कूल के भीतर छुपे दो आतंकवादियों को रविवार को मार गिराया। दोनों आतंकवादियों के ढेर होने के साथ ही पिछले करीब 14 घंटे से चल रही मुठभेड़ खत्म हो गयी । इस मुठभेड़ में थलसेना के दो जवान जख्मी हो गए। कल शाम पांठा चौक में हमले को अंजाम देने के बाद ये आतंकवादी श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग के पास स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में दाखिल हो गए थे। आतंकवादियों के इस हमले में सीआरपीएफ के एक अधिकारी की मौत हो गयी थी जबकि एक कॉंस्टेबल जख्मी हो गए।

श्रीनगर स्थित थलसेना कोर के मुख्यालय से एक किलोमीटर से भी कम की दूरी पर बने अत्यंत सुरक्षित क्षेत्र में सीआरपीएफ की रोड ओपनिंग पार्टी पर आतंकवादियों ने हमला किया था । सुरक्षा बलों ने हमले के तुरंत बाद स्कूल परिसर की घेराबंदी कर दी । इस परिसर में सात इमारतें हैं, जिनमें कुल 36 कमरे हैं । परिसर में मौजूद कर्मचारियों और अन्य को कल रात में ही सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था ।एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों के सफाये के लिए अभियान की शुरूआत आज की गयी । उन्होंने कहा, ‘‘सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी की शुरूआत तड़के 3:40 बजे हुई ।’’ करीब 14 घंटे चली मुठभेड़ के बाद अधिकारी ने आज शाम बताया, ‘‘गोलीबारी खत्म हो गयी है और दोनों आतंकवादी मारे गए हैं ।’’ उन्होंने कहा कि मुठभेड़ की जगह पर तलाशी चल रही है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘आज मुठभेड़ में थलसेना के दो जवान जख्मी हो गए । उन्हें अस्पताल ले जाया गया है ।इससे पहले, जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस पी वैद्य ने कहा था कि स्कूल परिसर में दो आतंकवादियों के मौजूद होने की सूचना है, लेकिन परिसर की पूरी तलाशी के बाद ही आतंकवादियों की सही-सही संख्या का पता लग सकेगा। अभियान के लंबा ंिखचने पर वैद्य ने कहा, ‘‘36 कमरे हैं, इमारत बड़ी है । लिहाजा, हर एक तल और हर एक कमरे को खंगालना होगा ।’’ उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल यह सुनिश्चत करना चाहते हैं कि स्कूल की इमारत सुरक्षित रहे।

वैद्य ने पत्रकारों को बताया, ‘‘हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि स्कूल की इमारत सुरक्षित रहे, क्योंकि दुश्मन का नापाक मंसूबा यह है कि स्कूली इमारतों को नष्ट कर दिया जाए और बच्चों के पास पढ़ाई के लिए कुछ नहीं रहे और वे आखिरकार अपनी पढ़ाई छोड़ दें, लेकिन हम सुनिश्चत करेंगे कि ऐसा कुछ नहीं हो।’’ कल के हमले में मारे गए सीआरपीएफ के अधिकारी के श्रद्धांजलि कार्यक्रम के इतर डीजीपी पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे ।अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर राष्ट्रीय राजमार्ग पर राम मुंशीबाग से लेकर सेमपुरा तक सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी थी ।पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं प्रभावित हुई हैं, क्योंकि नेटवर्क की रफ्तार कम कर दी गयी है ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डीपीएस एनकाउंटर खत्‍म: छिपे दो आतंकी मार गिराए गए, 3 जवान घायल
2 श्रीनगर: CRPF काफिले पर आतंकियों ने बरसाई अंधाधुंध गोलियां, हमले में दरोगा शहीद, 2 जवान घायल
3 श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के चीफ यासीन मलिक गिरफ्तार
ये पढ़ा क्या?
X