three suspect of hizbul mujahideen arrested in jammu and kashmir - Jansatta
ताज़ा खबर
 

हिजबुल गिरोह का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार

बारामूला पुलिस ने अन्य सुरक्षा बलों के साथ मिल कर एक मॉड्यूल का भंड़ाफोड़ किया जो कि क्षेत्र के युवाओं को आंतकवादी बनने के लिए बहलाने फुसलने के काम में सक्रिय था।

Author श्रीनगर | July 17, 2017 2:03 AM
जम्‍मू कश्‍मीर के नगरोटा में आतंकी हमले के बाद तैनात सुरक्षाबल। (Photo:PTI)

सुरक्षाबलों ने उत्तर कश्मीर के बारामूला जिले में आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के एक मॉड्यूल का भंड़ाफोड़ करके तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। बारामूला के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इम्तियाज हुसैन मीर ने बताया कि बारामूला पुलिस ने अन्य सुरक्षा बलों के साथ मिल कर एक मॉड्यूल का भंड़ाफोड़ किया जो कि क्षेत्र के युवाओं को आंतकवादी बनने के लिए बहलाने फुसलने के काम में सक्रिय था।  मीर ने बताया कि माड्यूल का नेतृत्व हिजबुल कमांडर परवेज वानी उर्फ मुबाशिर करता था जो कि कुपवाड़ा जिले के गगलूरा हंदवारा का निवासी है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में अंसारुल्ला तंतारे, अब्दुल रशीद भट्ट और मेहराजुद्दीन काक को गिरफ्तार किया गया है जो कि बारामूला जिले के अंदरगामी क्षेत्र के निवासी हैं। उन्होंने बताया कि मॉड्यूल की योजना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में युवाओं को भेज कर हथियार चलाने का प्रशिक्षण देने की थी। इनमें से एक आरोपी अब्दुल रशीद भट्ट मई में पाकिस्तान गया था और उसने हिजबुल के खालिद बिन वलीद कैंप में प्रशिक्षण भी लिया था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अलगाववादी संगठन की सिफारिश पर भट्ट को दिल्ली में पाक उच्चायोग ने वीजा दिया था। आरोपियों के पास से हथियार, गोलाबारूद और एक लाख रुपए के भारतीय नोट बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि मॉड्यूल युवकों को सिर्फ बहलाता फुसलाता ही नहीं था बल्कि उन्हें साजोसामान भी मुहैया कराता था।

आरोपियों के खिलाफ पट्टन पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गई है और मामले की जांच चल रही है। उन्होंने बताया कि हाल ही में पुलिस ने 10 बच्चों को आतंकवादियों के चंगुल से मुक्त करा कर उन्हें परिजन के हवाले किया है। आंतकवादी इन्हें अपने संगठन में शामिल करने वाले थे। बाकी पेज 8 पर इस बीच, एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसएचओ) पर पिछले महीने हुए हमले के संबंध में एक पुलिसकर्मी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिसकर्मी एक पीडीपी विधायक के यहां ड्राइवर के रूप में तैनात था। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि कांस्टेबल तौसीफ अहमद को सात महीने पहले पीडीपी के विधायक एजाज अहमद मीर के यहां ड्राइवर के रूप में तैनात किया गया था। पुलिसकर्मी समेत चार आरोपियों को इमामसाहब में एसपीओ खुर्शीद अहमद पर 11 जून को हुए हमले में आतंकवादियों को मदद पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि अन्य आरोपियों की पहचान आमिर मोइद्दीन, बशारत यूसूफ मीर और इफ्तिखार राठेर के रूप में हुई है। पुलिस जांच में पता चला है कि अधिकारी पर हमला हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नजीम नजीर डार ने किया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App