ताज़ा खबर
 

दिसंबर की सर्द रातें और चिनारों पर बर्फ, श्रीनगर ने ओढ़ी रेशम की रजाई

लद्दाख क्षेत्र के लेह में भी यह इस मौसम की सबसे सर्द रात दर्ज की गयी जहां न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 14.9 डिग्री सेल्सियस तक चला गया

Author श्रीनगर | Published on: December 21, 2016 6:13 PM
Shimla Snowfall, Shimla Rain, Snowfall Kashmir, Kashmir news, Kashmir latest news, Delhi Tempreture, Haryana Tempretureठंड से जमी कश्मीर की डल झील। (AP Photo/Mukhtar Khan/21 Dec, 2016)

चिनारों पर बर्फ गिर रही है और बाशिंदे श्रीनगर की सड़कों पर अपने फिरन के नीचे कांगड़ी की गर्माहट से हाड़ कंपा देने वाली ठंड से राहत ढूंढ रहे हैं । ये मौसम है कश्मीर में ‘चिल्लई कलां’ का। चिल्लई कलां के चलते घाटी में बुधवार (21 दिसंबर) से अगले 40 रोज तक सर्दी जमकर पड़ेगी। चिल्लई कलां के पहले ही दिन चिनार , देवदार के वृक्षों से सजी घाटी में इस मौसम में पहली बार सर्दी का पैमाना श्रीनगर सहित कई इलाकों में नयी मिसाल तक नीचे चला गया। श्रीनगर में दिसंबर महीने की बीती रात पिछले छह साल की सबसे अधिक सर्द रात गुजरी। कश्मीर घाटी के साथ ही लद्दाख में भी कड़ाके की ठंड दस्तक दे चुकी है क्योंकि पहलगाम और गुलमर्ग को छोड़कर पूरे श्रीनगर डिवीजन में तापमान काफी नीचे चला गया है। मौसम का हालचाल बताने वाले विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि श्रीनगर में पारा शून्य से 6.5 डिग्री सेल्सियस तक नीचे चला गया जो पिछली रात के शून्य से 5.5 डिग्री सेल्सियस से एक डिग्री और नीचे लुढ़क गया। ऐसी कड़ाके की रात इससे पहले 27 दिसंबर 2010 की रही थी। उस रात न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 6.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। इससे भी सालों पहले 13 दिसंबर 1934 की रात तो इससे भी ज्यादा कयामत की रात थी जब श्रीनगर में पारा लुढ़क कर शून्य से 12.8 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया था।

पूरी घाटी को अपने आगोश में लेकर चल रही शीत लहर ने कई झीलों के पानी को जमा दिया है। इसमें प्रसिद्ध डल लेक भी शामिल हैं। घरों को जाने वाली पानी की पाइप लाइनों में भी पानी जम गया है। जम्मू कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र के लेह में भी यह इस मौसम की सबसे सर्द रात दर्ज की गयी जहां न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 14.9 डिग्री सेल्सियस तक चला गया जबकि इससे पिछली रात यह शून्य से 14 डिग्री से नीचे था। मौसम अधिकारी ने बताया कि लेह राज्य में सबसे ठंडा इलाका दर्ज किया गया। समीप के कारगिल में तापमान शून्य से नीचे 11.4 डिग्री सेल्सियस नीचे जाकर गिरा जो कि वहां का इस मौसम का अब तक का सबसे कम तापमान था। कश्मीर घाटी के प्रवेश द्वार काजीगुंड में भी मौसम की सबसे सर्द रात बीती। अधिकारी ने बताया कि शहर में तापमान शून्य से नीचे 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि एक रात पहले यह शून्य से नीचे 4.4 डिग्री सेल्यिस था। उन्होंने बताया कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि उससे एक रात पहले शून्य से नीचे 4.8 डिग्री सेल्सियस था।

अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के हेल्थ रिजॉर्ट पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 6 Þ 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि रिजॉर्ट घाटी में सबसे ठंडा स्थान रहा। प्रसिद्ध स्की रिजॉर्ट गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 2 Þ 2 डिग्री सेल्सियस रहा जो कि एक दिन शून्य से नीचे 3 डिग्री सेल्सियस था। मौसम विभाग ने राज्य में आगामी सप्ताह में मौसम शुष्क रहने की संभावना जतायी है जिससे रात के तापमान में और गिरावट आ सकती है। कश्मीर में कड़ाके की और हाड़ गलाने वाली ठंड के समय को ‘चिल्लई कलां’ के रूप में जाना जाता है और इस 40 दिन में बर्फ गिरने की संभावना सबसे अधिक होती है तथा तापमान काफी गिर जाता है । तापमान गिरने की शुरूआत वैसे आज (बुधवार, 21 दिसंबर) से ही हो चुकी है। 40 दिन का समय अगले वर्ष 31 जनवरी को समाप्त होगा लेकिन शीत लहर उसके बाद भी चलती रहती है। 40 दिन के बाद 20 दिन का ‘चिल्लई खुर्द ’ होता है जिसे छोटा जाड़ा कहते हैं। इसके बाद अगले दस दिन ‘चिल्लई बच्चा’ के होते हैं और उसके बाद घाटी से सरदी रूखसत होने लगती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पंपोर में क्यों बढ़ रहे हैं आतंकवादी हमले
2 महबूबा मुफ्ती ने कहा- प्रदर्शनों ने हमें पीछे धकेल दिया, अफ्स्‍पा को हटाने की बात भी नहीं की जा सकती
3 जम्मू कश्मीर: बिजबेहाड़ा में एक आतंकी ढेर, सोपोर में मुठभेड़ जारी
ये पढ़ा क्या?
X