ताज़ा खबर
 

कठुआ गैंगरेप: प्रदेश अध्यक्ष के कहने पर हिंदू एकता मंच की रैली में गए थे बीजेपी के मंत्री?

सत शर्मा ने कहा है कि कठुआ में आठ वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या के जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें पकड़ना चाहिए। शर्मा ने लाल सिंह के इस्तीफे के बाद यह प्रतिक्रिया दी है।

जम्मू-कश्मीर में भाजपा के प्रदेश अक्ष्यक्ष सत शर्मा। (फोटो सोर्स एएनआई)

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के बाद मामला लगातार सियासी तूल पकड़ता जा रहा है। पिछले दिनों गैंगरेप के आरोपियों के पक्ष में हिंदू एकता मंच की रैली में भाजपा मंत्रियों के पहुचंने पर पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व को खासी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। रिपोर्ट के मुताबिक बाद में भाजपा आलाकमान ने पार्टी महासचिव राम माधव को जम्मू-कश्मीर भेजा। यहां राम माधव ने राज्य में पार्टी नेताओं से एक उच्च स्तरीय मीटिंग की। सूत्रों के हवाले से टाइम्स नाउ को मिली जानकारी के मुताबिक, इस दौरान भाजपा नेता ने राम माधव से कहा कि वह खुद की मर्जी से हिंदू एकता मंच की रैली में नहीं पहुंचे थे बल्कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा के कहने पर वह वहां गए।

टाइम्स नाउ को मिली जानकारी के मुताबिक लाल सिंह और चंदर प्रकाश गंगा ने कहा है कि वह अपनी मर्जी से उस रैली में नहीं पहुंचे थे बल्कि प्रदेश अध्यक्ष के कहने पर वहां गए। दूसरी चौतरफा घिरे जम्मू-कश्मीर भाजपा अध्यक्ष ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सत शर्मा ने कहा है कि कठुआ में आठ वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या के जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें पकड़ना चाहिए। शर्मा ने लाल सिंह के इस्तीफे के बाद यह प्रतिक्रिया दी है।

वहीं भाजपा नेताओं से मीटिंग के बाद राम माधव ने कहा है कि राज्य में गठबंधन को लेकर कोई परेशानी नहीं है। एएनआई से राम माधव ने कहा है कि भाजपा राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बातचीत कर रही है। दोनों पार्टियों के बीच कठिनाई वाली कोई बात नहीं है। पार्टी मुख्यमंत्री के संपर्क में है। राम माधव ने आगे कहा कि पार्टी को अपने विधायकों पर स्टैंड साफ करना चाहिए। इसपर पीएम ने सलाह दी कि उन विधायकों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App