ताज़ा खबर
 

अबु दुजाना ने फौजी से कहा था- पकड़ लिया, मुबारक हो! पर सरेंडर नहीं करूंगा, जो अल्ला चाहेगा वो होगा

भारतीय सुरक्षा बलों के "ऑपरेशन ऑल आउट" के तहत मारा जाने वाला अबु दुजाना 119वीं आतंकी था।

सुरक्षाबलों ने आतंकी अबु दुजाना को मंगलवार (एक अगस्त) को मार गिराया था।

कश्मीर में मंगलवार (एक अगस्त) को भारतीय सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे पाकिस्तानी आतंकवादी अबु दुजाना ने मारे जाने से पहले आत्मसमर्पण से इनकार कर दिया था। सेना के एक अफसर से फोन पर बात करते हुए अबु दुजाना ने ये माना कि उसके माता-पिता गिलगिट-बाल्टीस्तान में रहते हैं जो पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वा प्रांत में स्थित है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक्सक्लुसिव रिपोर्ट के अनुसार सैन्य अफसर ने एक कश्मीरी के माध्यम से दुजाना से बातचीत करके उसे आत्मसमर्पण करने के लिए प्रेरित किया। रिपोर्ट के अनुसार दुजाना से कश्मीरी नागरिक ने पहले कुछ मिनट बात की और उसके बाद फोन सैन्य अफसर को दे दिया।

दुजाना ने सैन्य अफसर से कहा, “क्या हाल है? मैंने कहा, क्या हाल है?” अफसर ने जवाब दिया, “हमारा हाल छोड़ दुजाना। तुम सरेंडर क्यों नहीं कर देते? तुमने इस लड़की से शादी की है। तुम जो कर रहे हो सही नहीं है।” टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार सेना के अफसर ने दुजाना को समझाया कि पाकिस्तानी एजेंसियां नौजवानों का इस्तेमाल करके कश्मीर को लहूलुहान कर रही हैं लेकिन दुजाना ने बात नहीं मानी और आत्मसमर्पण नहीं किया।

टीओआई के अनुसार दुजाना ने भारतीय सेना के अफसर से कहा, “हम निकले थे शहीद होने। मैं क्या करूं। जिसको गेम खेलना है खेलो। कभी हम आगे, कभी आप, आज आपने पकड़ लिया, मुबारक हो आपको। जिसको जो करना है कर लो।” दुजाना ने आत्मसमर्पण से इनकार करते हुए कहा, “सरेंडर नहीं कर सकता। जो मेरी किस्मत में लिखा होगा, अल्लाह वही करेगा, ठीक है?”

सैन्य अफसर ने दुजाना को उसके मां-बाप की याद दिलाई लेकिन वो नहीं पसीजा। दुजाना ने कहा, “मां-बाप तो उस दिन मर गए जिस दिन मैं उनको छोड़ कर आया।” रिपोर्ट के अनुसार दुजाना ने इस बातचीत के बीच में ही अचानक फोन काट दिया। सुरक्षा बलों के अनुसार इस बात की भी आशंका है कि दुजाना फोन पर पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों से निर्देश ले रहा हो। भारतीय सुरक्षा बलों के “ऑपरेशन ऑल आउट” के तहत मारा जाने वाला अबु दुजाना 119वीं आतंकी था। भारतीय सेना कश्मीर में सक्रिय कट्टरपंथियों के सफाए के लिए ये मुहिम चला रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App