ताज़ा खबर
 

बुरहान के मारे जाने पर उमर अब्‍दुल्‍ला ने कहा- कश्‍मीर के नाराज लोगों को नया नायक मिल गया

जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद युवाओं के आतंकवाद की ओर जाने का अंदेशा जताया है।

जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला।

जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद युवाओं के आतंकवाद की ओर जाने का अंदेशा जताया है। उन्‍होंने टि्वटर पर लिखा कि बुरहान की मौत उसके जिंदा रहने से ज्‍यादा खतरनाक साबित हो सकती है। उन्‍होंने ट्वीट किया, ”मेरी बात याद रखना। बुरहान की सोशल मीडिया के जरिए आतंकवाद से जोड़ने जो क्षमता थी वह कब्र में जाने के बाद और बढ़ गई है।” गौरतलब है कि बुरहान वानी को शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में मार गिराया था।

Read Also: J&K: आतंकी बुरहान के जनाजे में उमड़े 40 हजार लोग, पाकिस्‍तान के झंडे भी आए नजर

कश्‍मीर: आतंकी को मारे गिराने पर उबाल, पूरे राज्‍य में प्रदर्शन के बाद कर्फ्य, अमरनाथ यात्रा रोकी

उमर अब्‍दुल्‍ला ने इससे पहले लिखा, ”श्रीनगर में मेरे घर की पास की मस्जिद से कई सालों बाद मैंने आजादी के नारे सुने। कश्‍मीर के असंतुष्‍ट लोगों को कल एक नया नायक मिल गया।” बुरहान के मारे जाने की खबर आने के बाद भी उन्‍होंने कहा था कि कश्‍मीर के लिए आने वाला समय मुश्किलों भरा होगा। उमर ने लिखा था, ”दुख की बात है कि बुरहान बंदूक उठाने वाला न तो पहला और न आखिरी व्‍यक्ति होगा। नेशनल कांफ्रेंस का हमेशा मानना रहा है कि राजनीतिक समस्‍या को राजनीतिक उपाय के जरिए ही सुलझाया जा सकता है।”

बुरहान वानी 15 साल की उम्र में बन गया था आतंकी, सेना के कपड़े पहनता और FB पर रहता एक्टिव

burhan wani, burhan wani death, Hizbul Mujahideen, kashmir terrorism, Burhan Muzaffar Wani, Khalid Muzaffar Wani, jammu kashmir, kashmir militancy, burhan wani news  (Photo Source: facebook)

उमर ने लिखा, ”वानी का मारा जाना बड़ी खबर है लेकिन घाटी के लिए कुछ तनाव भरे दिनों की चेतावनी है।” बुरहान वानी पिछले कुछ सालों में कश्‍मीर में आतंकवाद का पोस्‍टर बॉय बन गया था। वह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव था और इसके जरिए युवाओं को आतंक की ओर खींच रहा था। वह कश्‍मीर के त्राल का रहने वाला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App