ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: प्रतिबंधित सगंठन के पक्ष में उतरीं महबूबा मुफ्ती, जमात-ए-इस्लामी को सुप्रीम कोर्ट में कानूनी मदद देने की पेशकश

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): महबूबा मुफ्ती ने कहा कि पीडीपी का स्पष्ट रुख है कि विचारों को न तो बांधा जा सकता, न प्रतिबंधित किया जा सकता और ना ही मारा जा सकता है।

lok sabha, PDP, Mehbooba Mufti, Jamaat e Islami, Supreme court, People's Democratic Party, JeL, Muzaffar Hussain Baig, National Conference, ISI, lok sabha election, lok sabha election 2019, lok sabha election 2019 schedule, lok sabha election date, lok sabha election 2019 date, लोकसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव 2019, chunav, lok sabha chunav, lok sabha chunav 2019 dates, lok sabha news, election 2019, election 2019 newsपीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती। (PTI)

लोकसभा चुनाव से पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार (26 मार्च) को कहा कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो कश्मीर में प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-इस्लामी और जेकेएलएफ पर से बैन हटा दिया जाएगा। दरअसल, केन्द्र ने 28 फरवरी को एक अधिसूचना जारी की थी जिसमें उसने इस आधार पर आतंकवाद निरोधक कानून के तहत जमात-ए-इस्लामी जम्मू कश्मीर पर पांच वर्षों के लिए प्रतिबंध लगा दिया कि आतंकवादी संगठनों के साथ उसके ‘‘करीबी संबंध’’ हैं और इससे राज्य में ‘‘अलगाववादी आंदोलन बढ़ने’’ की आशंका है। फिलहाल चुनाव आयोग ने राज्य में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया है, लेकिन पीडीपी प्रमुख कश्मीर के अस्थिर अनंतनाग संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं।

महबूबा ने कहा, ‘‘जमात ए इस्लामी और जेकेएलएफ जैसे संगठनों को प्रतिबंधित करने के दीर्घावधि परिणाम होंगे और इस तरह के उपायों से जनता में निराशा एवं हताशा का स्तर ही बढेगा।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पीडीपी का स्पष्ट रुख है कि विचारों को न तो बांधा जा सकता, न प्रतिबंधित किया जा सकता और ना ही मारा जा सकता है।

वहीं, पीडीपी के वरिष्ठ नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने भी जमात ए इस्लामी जम्मू कश्मीर और जेकेएलएफ पर केन्द्र द्वारा लगाई गई पाबंदी के खिलाफ इन संगठनों को कानूनी मदद की पेशकश की। पेशे से वकील बेग ने कहा कि उनकी पार्टी इन संगठनों की वैचारिक रूप से विरोधी है लेकिन वह नागरिकों के अधिकारों के लिए इस कदम के पक्ष में है।

बेग ने कहा, ‘‘वैसे तो जमात ए इस्लामी और जेकेएलएफ (जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट) दोनों ही हमारे विरोधी हैं लेकिन हम उन पर लगे प्रतिबंध के खिलाफ कानूनी मदद देने को तैयार हैं। यह सिद्धांतों तथा नागरिक अधिकार कायम रखने का विषय है।’’ वरिष्ठ नेता ने बारामूला में कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित करते हुए इन दोनों प्रतिबंधित संगठनों को कानूनी मदद की पेशकश की। गौरतलब है कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने पिछले सप्ताह गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून, 1967 के तहत मोहम्मद यासीन मलिक नीत जेकेएलएफ पर प्रतिबंध लगाया है। इससे पहले फरवरी में केन्द्र ने जमात ए इस्लामी पर पाबंदी लगाई थी। (भाषा इनपुट के साथ)

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: जानिए, कानपुर से मुरली मनोहर जोशी की जगह किसे बीजेपी ने दिया टिकट
2 Lok Sabha Election 2019: ‘लाठी, हाथी और 786’ को एक साथ करेंगे अखिलेश ? जानें आजमगढ़ सीट का इतिहास
3 Lok Sabha Election 2019: गौतमबुद्ध नगर से AAP की प्रत्याशी का नामांकन खारिज, 21 प्रत्याशियों में से 8 के नाम हुए कैंसिल
ये पढ़ा क्या?
X