कश्मीर: टेलीफोन सेवा के बाद प्रेस पर रोक, अखबार की 50 हजार कॉपियां जब्त - Jansatta
ताज़ा खबर
 

कश्मीर: टेलीफोन सेवा के बाद प्रेस पर रोक, अखबार की 50 हजार कॉपियां जब्त

छापे के बारे में जानकारी मीडिया हाउसों ने अपनी वेबसाइट्स पर दी है। जिन अखबारों के दफ्तरों पर छापा पड़ा उनमें उर्दू और इंग्लिश दोनों शामिल हैं।

कर्फ्यू के वक्त श्रीनगर में खड़ा मिलिट्री का जवान। (AP Photo/Dar Yasin/File)

कश्मीर में हिंसा भड़कने के बाद पुलिस ने शनिवार (16 जुलाई) की सुबह कई अखबारों के दफ्तरों पर छापा मारकर उनकी कॉपियां जब्त कर ली हैं। छापे के बारे में जानकारी मीडिया हाउसों ने अपनी वेबसाइट्स पर दी है। जिन अखबारों के दफ्तरों पर छापा पड़ा उनमें उर्दू और इंग्लिश दोनों शामिल हैं। ग्रेटर कश्मीर नाम के अखबार ने अपनी वेबसाइट पर लिखा, ‘ ग्रेटर कश्मीर और कश्मीर उजमा की 50 हजार से ज्यादा प्रिंटिड कॉपियों को जब्त कर लिया गया है। प्रेस भी बंद करवा दी गई है।’

Read Also: बेबाक बोलः कश्मीर की कराह- अनदेखी की आग

Kashmirreader.com पर लिखा गया, ‘2 बजे के करीब KT प्रिंटिंग प्रेस में पुलिस की रेड पड़ी। आठ लोगों को पकड़ लिया गया और कॉपियां जब्त कर ली गईं।’

Read Also: कश्मीर हिंसा के खिलाफ Black Day मनाएगा पाकिस्‍तान, भारतीयों ने कुछ ऐसे उड़ाया मजाक

अखबार बेचने वाले शख्स ने बताया, ‘जब हम अखबार लेने के लिए पहुंचे तो कॉपियां जब्त कर ली गई थीं। हम लोगों ने जब पूछा कि ऐसा क्यों किया जा रहा है तो उन्होंने हमारे साथ बदतमीजी की।’

Read Also: पाकिस्तान ने UN में उठाया कश्मीर मुद्दा, प्रदर्शन के दौरान हुई मौतों की स्वतंत्र जांच की मांग की

इंटरनेट पहले से बंद: घाटी में पिछले सात दिनों से इंटरनेट सेवा बंद है। यह हालात सोमवार तक रहने के आसार हैं। वहां पर BSNL के अलावा किसी और फोन के नेटवर्क भी नहीं आ रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App