ताज़ा खबर
 

दूसरे दिन भी कश्मीर में नहीं लगा कर्फ्यू, घाटी के कुछ इलाक़ों में धारा-144 लागू

हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में मौत हो जाने के बाद घाटी में हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं।

Author श्रीनगर | September 26, 2016 13:31 pm
श्रीनगर में प्रदर्शन के दौरान चेहरे पर नकाब पहने एक कश्मीरी युवक पाकिस्तान का झंडे दिखाता हुआ। (AP Photo/Mukhtar Khan/File)

कश्मीर घाटी की स्थिति में सुधार के मद्देनजर रविवार (25 सितंबर) को पूरी घाटी में लोगों की आवाजाही से प्रतिबंध हटाए जाने के बाद सोमवार (26 सितंबर) को लगातार दूसरे दिन भी यहां कर्फ्यू नहीं लगाया गया। हालांकि अधिकतर इलाकों में लोगों के किसी स्थान पर जमा होने पर प्रतिबंध लागू है। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि कश्मीर में आज (सोमवार, 26 सितंबर) भी कहीं पर कर्फ्यू नहीं है लेकिन ऐहतिहात के तौर पर घाटी के कुछ इलाकों में लोगों के किसी स्थान पर जमा होने पर प्रतिबंध लागू हैं। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू न लगाने का फैसला स्थिति में सुधार के मद्देनजर लिया गया है। अलगाववादियों की ओर से बुलाए गए बंद के कारण दुकानें, पेट्रोल पंप और अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान सोमवार (26 सितंबर) को भी बंद रहे और सार्वजनिक परिवहन के साधन लगातार 80वें दिन सड़कों से नदारद रहे।

पूरी घाटी में स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान भी बंद रहे। अलगाववादी समूह कश्मीर में हुई हिंसक झड़पों में सुरक्षा बलों की कार्रवाई के दौरान नागरिकों के मारे जाने को लेकर उपजी अशांति का प्रसार कर रहे हैं। ये हिंसक झड़पें हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में मौत हो जाने के बाद हुईं। ये समूह किसी-किसी दिन राहत देकर साप्ताहिक तौर पर विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रमों की घोषणा करते रहे हैं। हालांकि आज (सोमवार, 26 सितंबर) कोई राहत नहीं दी गई है। घाटी के इस तनाव में अब तक दो पुलिसकर्मियों समेत 82 लोग मारे जा चुके हैं और हजारों अन्य घायल हो चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App