ताज़ा खबर
 

कश्मीर में अशांति के बीच पंडितों ने की गंगबल यात्रा

यह आठवीं वार्षिक गंगबल यात्रा है, जिसे हमने 100 वर्षों बाद 2009 में फिर से शुरू किया था।

Author जम्मू | September 13, 2016 5:57 AM
कश्मीरी पंडितों से मिलतीं जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती। (पीटीआई फोटो)

घाटी में अशांति के बीच कश्मीरी पंडितों ने मध्य कश्मीर के गंदेरबल जिले में हरमुख गंगबल झील की तीर्थयात्रा की और राज्य में शांति के लिए प्रार्थना की। हरमुख गंगबल ट्रस्ट के महासचिव विनोद पंडित के नेतृत्व में कश्मीरी पंडितों के एक समूह ने गंगा अष्टमी पर इस तीर्थस्थान पर पूजा अर्चना की। आॅल पार्टीज माइग्रेंट्स को-आर्डिनेशन कमेटी (एपीएमसीसी) के अध्यक्ष पंडित ने कहा, ‘यह आठवीं वार्षिक गंगबल यात्रा है, जिसे हमने 100 वर्षों बाद 2009 में फिर से शुरू किया था। ’ भगवान शिव के मंदिर जाने वाले रास्ते पर सुरक्षा बलों द्वारा सुरक्षा की व्यवस्था की गई थी। यात्रा में शामिल होने के लिए बंगलुरु से यहां आए सुनील टखरू ने कहा, ‘हमने कश्मीर में शांति और सामान्य स्थिति के बहाल होने की प्रार्थना की।’

एपीएमसीसी प्रमुख ने कहा, ‘कश्मीरी हिंदुओं के लिए यह स्थान हरिद्वार जितना महत्व रखता है। अतीत में समुदाय के मृत सदस्यों की अस्थियां यहां विसर्जित की जाती थीं।’ उन्होंने कहा कश्मीर में आतंकवाद की वजह से यात्रा प्रभावित हुई है। पंडित ने कहा कि कश्मीर में चल रहे अशांति के माहौल की वजह से कई लोग यात्रा में शामिल नहीं हो सके। नौ सितंबर से शुरू हुई इस यात्रा का समापन रविवार हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App