ताज़ा खबर
 

श्रीनगर-अनंतनाग में कर्फ्यू जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 56 हुई

हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी को मार गिराए जाने के विरोध प्रदर्शनों में नागरिकों के मारे जाने को लेकर अलगाववादी खेमा घाटी में विरोध प्रदर्शनों की अगुवाई कर रहा है।

Author श्रीनगर | August 13, 2016 16:45 pm
श्रीनगर में प्रदर्शन के दौरान चेहरे पर नकाब पहने एक कश्मीरी युवक पाकिस्तान का झंडे दिखाता हुआ। (AP Photo/Mukhtar Khan/File)

श्रीनगर के लाल चौक पर अलगाववादियों के दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन की योजना को विफल करने के लिए समूचे श्रीनगर जिले और अनंतनाग शहर में आज (शनिवार, 13 अगस्त) कर्फ्यू जारी रहा। वहीं गोलीबारी में एक युवक की मौत के साथ ही घाटी में मौजूदा अशांति की वजह से मरने वालों की संख्या 56 हो गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘शहर के मध्य में स्थित लाल चौक पर दो दिन के लिए धरने प्रदर्शन की कुछ तत्वों की योजना को नाकाम करने के लिए समूचे श्रीनगर में कर्फ्यू लगाया गया है।’ उन्होंने कहा कि कर्फ्यू दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग शहर में भी लागू है।

सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक की अगुवाई वाले अलगाववादी धड़े ने लोगों से आज (शनिवार, 13 अगस्त) और कल (रविवार, 14 अगस्त) लाल चौक पर ‘जनमत संग्रह’ मार्च निकालने के लिए कहा था। पिछले महीने हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी को मार गिराए जाने के विरोध में प्रदर्शनों में नागरिकों के मारे जाने को लेकर अलगाववादी खेमा घाटी में विरोध प्रदर्शनों की अगुवाई कर रहा है।

अधिकारी ने कहा कि मौजूदा अशांति की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 56 हो गई है, क्योंकि सुहैल अहमद वानी नाम का युवक जो पिछले हफ्ते एक पुलिसकर्मी द्वारा की गई गोलीबारी में जख्मी हो गया था, उसकी आज (शनिवार, 13 अगस्त) अस्पताल में मौत हो गई। सुहैल को पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर लेथपुरा में दो अगस्त को सिर में गोली लगी थी।

घाटी में प्रशासन द्वारा लागू की गई पाबंदियों और सुरक्षा बलों की कार्रवाई में नागरिकों की मौतों के विरोध में अलगाववादी समर्थित हड़ताल की वजह से घाटी में लगातार 36 दिनों से जनजीवन प्रभावित है। स्कूल, कॉलेज, कारोबारी प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप और निजी दफ्तर बंद हैं जबकि सार्वजनिक परिवहन सड़कों से नदारद है। अधिकारी ने कहा कि सरकारी दफ्तरों और बैंकों में भी हाजिरी कम है। घाटी में मोबाइल इंटनरेट सेवा लगातार बंद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App