ताज़ा खबर
 

कश्मीर के कई हिस्सों में फिर लगा कर्फ्यू, हिंसा में अब तक 69 की मौत

आठ जुलाई को हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में विरोध प्रदर्शन होते रहे हैं।

Author श्रीनगर | September 2, 2016 1:39 PM
श्रीनगर में एक बंद दुकान के शटर पर उपद्रवियों द्वारा कश्मीर की आजादी के समर्थन में लिखा स्लोगन। (REUTERS/Cathal McNaughton)

जुमे की नमाज से पहले ऐहतिहात के तौर पर श्रीनगर समेत कश्मीर के कई हिस्सों में शुक्रवार (2 सितंबर) को एक बार फिर कर्फ्यू लगा दिया गया। घाटी में जनजीवन लगातार 56वें दिन ठप्प रहा। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘पूरे श्रीनगर जिले और घाटी के कुछ अन्य शहरों में ऐहतिहात के तौर पर कर्फ्यू लगा दिया गया है।’ उन्होंने कहा कि जिन अन्य शहरों में कर्फ्यू लगाया गया है, उनमें अनंतनाग, पुलवामा, कुलगाम, शोपियां, बारामूला और पट्टन शामिल हैं। अधिकारी ने कहा, ‘जुमे की नमाज के बाद हिंसा की आशंका के चलते घाटी के अन्य हिस्सों में लोगों के एक स्थान पर जुटने को प्रतिबंधित कर दिया गया है।’ कश्मीर के अधिकतर हिस्सों से सोमवार (29 अगस्त) को प्रतिबंध हटा लिया गया था और दो दिन पहले इसे पूरी तरह हटा लिया गया था।

आठ जुलाई को हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में विरोध प्रदर्शन होते रहे हैं। अलगाववादियों की ओर से बुलाई गई हड़ताल के कारण जनजीवन प्रभावित रहा। इस दौरान शैक्षणिक संस्थान और निजी दफ्तर बंद रहे जबकि सार्वजनिक यातायात सड़कों से नदारद रहा। अलगाववादियों ने बंद का आह्वान आठ सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया है और लोगों से कहा है कि वे तीन और चार सितंबर को श्रीनगर हवाईअड्डा मार्ग पर कब्जा करें। चार सितंबर को गृहमंत्री राजनाथ सिंह को घाटी में एक सर्वदलीय शिष्टमंल का नेतृत्व करना है। आठ जुलाई के बाद से घाटी में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच हुई झड़पों में दो पुलिस कर्मियों समेत 69 लोग मारे जा चुके हैं और हजारों लोग घायल हो चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App