ताज़ा खबर
 

जम्‍मू-कश्‍मीर: हंदवाड़ा से हरकत-उल-मुजाहिदीन के दो आतंकी गिरफ्तार

घाटी में सेना की ओर से ऑपरेशन ऑलआउट चलाया जा रहा है।
हंदवाड़ा से गिरफ्तार किए गए आतंकी। (Source: ANI)

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में आज हरकत उल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी गिरफ्तार किये गये। एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की गतिविधियों की खास खबर मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने बाकीहाकेर मोड़ पर जांच चौकी बनायी। चेकिंग के दौरान दो व्यक्ति दूर से ही सुरक्षार्किमयों को देख भागने लगे। दोनों बाकीहाकेर की ओर आ रहे थे। प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षा बलों ने कुछ दूरी पर सादी वर्दी में एक अन्य टीम तैनात कर रखी थी जिसने संदिग्धों को धर दबोचा। प्राथमिक जांच के बाद दोनों की पहचान युनिस अहमद मीर (19) उर्फ सरफराज और ताहिर उल इस्लाम (21) उर्फ सज्जाद अफगानी के रुप हुई है। सरफराज बडगाम जिले के सेबदान गलवनपोरा का रहने वाला है जबकि सज्जाद अफगानी श्रीनगर जिले में साल्टेंग के मुलुर तावहीदाबाद का निवासी है। प्रवक्ता के मुताबिक दोनों ने दावा किया कि वे हाल ही में इस संगठन में शामिल हुए थे और उन्हें ंिहसक गतिविधियों में शामिल होकर हंदवारा में अशांति पैदा करने का जिम्मा सौंपा गया था। कड़ाई से पूछताछ करने पर उन्होंने खुलासा किया कि हंदवारा-कुपवाड़ा क्षेत्र में स्थित ज्यादातर आतंकवादी संगठन इस क्षेत्र में स्थानीय आतंकवादियों की घट रही संख्या की समस्या से जूझ रहे हैं।

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘उन्होंने खुलासा किया कि इस क्षेत्र के युवक कश्मीर और पीओके के आतंकवादी कमांडरों की लाख कोशिश के बावजूद बंदूक उठाने के लिए तैयार नहीं हैं । आतंकवादी संगठन हाल ही में कुपवाड़ा में कुछ स्थानीय युवकों की भर्ती करने में सफल रहे थे। लेकिन आतंकवाद से जुड़ने के कुछ ही समय के अंदर उन्होंने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया या वे फिर सुरक्षाबलों द्वारा पकड़ लिये गये।’’ उन्होंने बताया कि आतंकवादी संगठनों के घाटी के कमांडरों पर इस क्षेत्र में अमन एवं शांति बिगाड़ने का दबाव होने के चलते वे अन्य क्षेत्रों में युवकों की भर्ती कर उन्हें आतंकी हमला कराने के लिए हंदवारा लाने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज किया है और जांच चल रही है।

घाटी में सेना की ओर से ऑपरेशन ऑलआउट चलाया जा रहा है, जिसके तहत आतंकियों की धरपकड़ हो रही है। रविवार को शोपियां जिले में चौबीस घंटे तक चली गोलीबारी में हिजबुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर यासीन इत्तू सहित तीन आतंकवादी मारे गए। इसमें दो जवान भी शहीद हुए। इस दौरान दर्जन भर पत्थरबाज भी सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में घायल हुए। सुरक्षा बलों व आतंकवादियों के बीच करीब 24 घंटे गोलीबारी चली। शोपियां जिले के अवनीरा गांव में गोलीबारी के दौरान मारे जाने वालों में हिजबुल का आपरेशनल कमांडर यासीन इत्तू उर्फ महमूद गजनवी भी शामिल था।

घाटी में रविवार को दो प्रदर्शनकारियों की मौत के बाद सोमवार को शैक्षणिक संस्थान बंद रहे। प्रशासन ने यह जानकारी दी। सोमवार के लिए नियत सभी परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं। शोपियां, कुलगाम और चदूरा इलाकों में इंटरनेट सेवाएं स्थगित कर दी गईं और घाटी व जम्मू के बनिहाल शहर के बीच रेल सेवाएं रद्द कर दी गईं। काकापोरा और शोपियां शहरों में सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष के दौरान पैलेट्स से घायल हुए ओवैस अहमद डार और मोहम्मद सईद बट की मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.